अपने विवादित बयानों के चलते सियासी जगत में ट्रेंड करने वाले रामपुर से सपा के सांसद आजम खान इन दिनों एक और विवादित बयान के चलते सुर्खियों में शुमार हैं. हाल ही मे लेकसभा में तीन तलाक मुद्दे पर चल रही बहस के दौरान बीजेपी नेता रमा देवी पर आपत्तीजनक टिप्पणी करने के बाद से ही आजम खान को हर तरफ से आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है. हालांकि आजम खान ने अब इस मामले पर लोकसभा में रमा देवी से माफी मांग ली है. और रमा देवी को अपनी बहन बताया है.

वहीं सियासी उफान के बीच एक ओर जहां पक्ष और विपक्ष के नेता आजम खान के इस बयान के बाद उनकी कड़ी निंदा करते नजर आ रहे हैं तो वहीं इसी बीच इन तमाम नेताओं के खिलाफ आजम खान का समर्थम देने वाला एक हाथ भी सामने आया है. जी हां हम बात कर रहे हैं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के मुखिया जीतन राम मांझी की. जिन्होने समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान क बयान में कुछ भी आपत्ती जनक नहीं पाया है…बल्कि आजम खान के बयान को गुड सेंस में ही कही गई बात बताया है. साथ ही उनके बयान को जायज करार देते हुए ये सवाल भी किया कि अगर भाई-बहन और मां-बेटे एक-दूसरे को किस करते हैं तो क्या उसे सेक्स कहेंगे?

जरुर पढ़ें:  फेसबुक की कार्रवाई पर अब कांग्रेस का पलटवार, कहा- नहीं हटाया कोई वेरिफाइड अकाउंट..

दरअसल जीतन राम का कहना है कि आजम खान के बयान को गलत नजरिए से देखाजा रहा है. अपनी बात के समर्थन में उन्‍होंने तर्क देते हुए कहा कि पुराने जमाने में लोग पूरे परिवार से प्यार करते थे और लंबे समय के बाद मिलने पर प्यार का इजहार करते थे. ऐसे में लंबे समय बाद मिलने वाले भाई-बहन और मां-बेटा एक-दूसरे को किस करें तो क्या उसे सेक्स कहेंगे?

हालांकि जीतन राम ने रमा देवी से माफी मांगने को भी कहा. उन्होने कहा कि इसके बावजूद अगर आजम खान ने जिसे बहन कहा, उसे ठेस पहुंची है तो उन्हें बहन से माफी मांग लेनी चाहिए. वो इस्‍तीफा नहीं दें, लेकिन माफी मांगें.

जरुर पढ़ें:  वोट मांगने का ये तरीका अनोखा है... वोटर वोट जरूर देंगे!

आपको बता दें कि बीते 25 जुलाई को लोकसभा में तीन तलाक पर बहस के दौरान जब रमा देवी सदन की अध्यक्षता कर रही थी. तभी आदम खान ने उन पर विवादित टिप्पणी की थी. जिसके बाद से ही सियासत में उबाल काफी तेज है. और हर किसी ने इसे लोकतांत्रिक मर्यादा के खिलाफ करार दिया है.

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here