कांग्रेस नेता राहुल गांधी मानहानि के मामले में आज पटना सिविल कोर्ट में पेश हुए. बिहार के उपमुख्यमंत्री
सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ जातिगत टिप्पणी को लेकर पटना कोर्ट में मानहानि
का केस दायर किया था.मामले की सुनवाई के बाद जज गुंजन कुमार ने राहुल गांधी को दस हजार के निजी
मुचलके पर जमानत दे दी है.

बता दें राहुल गांधी के उपस्थित होने से पहले ही उनके वकील की तरफ से आत्मसमर्पण सह जमानत की अर्जी दे
दी गई थी, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था और राहुल गांधी के कोर्ट में आने के बाद कोर्ट ने उन्हें जमानत दे
दी.

कोर्ट में पेशी के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मैं अपने इस्तीफे पर कायम हूं.
हिंदुस्तान की आवाज को दबाया जा रहा है. मैं पटना कोर्ट में पेशी के लिए आया था. मुझे जहां-जहां जाने की
जरूरत होगी, जाऊंगा साथ ही राहुल ने कहां कि ये मेरी लड़ाई भारत के संविधान को बचाने की है हमारी लड़ाई
RSS और नरेंद्र मोदी की विचारधारा से है.

जरुर पढ़ें:  राहुल गांधी रेपिस्ट है, सुकन्या देवी का बलात्कार किया था- संबित पात्रा

 

बता दें राहुल गांधी कोर्ट में पेश होने के लिए पटना एयरपोर्ट से सीधे कोर्ट पहुंचे. कोर्ट के बाहर कांग्रेस नेताओं
और कार्यकर्ताओं की काफी भीड़ लगी रही. कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता लगातार राहुल गांधी से राष्ट्रीय अध्यक्ष
पद से दिए गए इस्तीफे को वापस लेने की मांग करते हुए नारेबाजी कर रहे थे.

आपको बता दें सुशील मोदी ने राहुल गाँधी पर दायर किया था मानहानि का मुकदमा दरअसल, मामला
लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान का है 13 अप्रैल को कर्नाटक के बेलूर क्षेत्र के ककोर में राहुल गांधी ने कहा था
कि, सभी मोदी चोर; हैं. राहुल गांधी ने एक रैली में कहा था, आखिर सभी चोरों का नाम मोदी क्यों होता है? इस
दौरान राहुल गांधी ने भगोड़े उद्योगपतियों में नीरव और ललित मोदी का उदाहरण देते हुए इसका जिक्र किया था.
राहुल गांधी ने कहा था, सारे चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं.

जरुर पढ़ें:  लोकसभा चुनाव में हार के बाद अमेठी पहुंचेगे राहुल

राहुल गांधी के इस बयान से बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भड़क गए थे और उन्होंने कांग्रेस नेता के
खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराते हुए कहा ;राहुल गांधी के इस तरह के भाषण में मोदी टाइटल वाले व्यक्ति हैं,
उनको चोर बताया गया है. इससे समाज में उनकी छवि धूमिल हुई है. मोदी ने ये भी कहा कि ये एक आपराधिक
कृत्य है, जिसकी सजा कोर्ट द्वारा राहुल गांधी को जरूर मिलनी चाहिए.


बता दें इससे पहले, मुंबई की एक अदालत ने गुरुवार को राहुल गांधी को आरएसएस के एक कार्यकर्ता द्वारा दायर
मानहानि मामले में 15,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दी थी. संक्षिप्त सुनवाई के दौरान राहुल गांधी ने
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यकर्ता द्वारा उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों के संबंध में कहा कि
वह दोषी नहीं हैं।

जरुर पढ़ें:  भैया, EVM में तो सही में गड़बड़ी है, निर्दलीय का वोट BJP को जा रहा है

आरएसएस कार्यकर्ता धृतिमान जोशी ने राहुल के खिलाफ बेंगलुरु की पत्रकार गौरी लंकेश की 2017 में हुई हत्या का
संबंध दक्षिण-पंथी संगठन से जोड़ने का आरोप लगाते हुए मानहानि का मामला दायर किया था.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here