बीजेपी की एक नेत्री की ये बातें आपको परेशान कर सकती है. बॉलीवुड और पत्रकारिता के बाद ये पहला मामला है जब किसी राजनीतिक दल की महिला ने खुलकर ये आरोप लगाया है कि राजनीति में महिलाओं को कांम्प्रमाइज करना पड़ता है. तभी उनकी तरक्की होती है. उनको टिकट मिलता है. महिला नेता खुलकर कह रही है कि दौलत और औरत के दम पर ही बीजेपी में आपकी तरक्की हो सकती है.

ये महिला नेता मध्यप्रदेश से ताल्लुक रखती है. पिछले हफ्ते तक ये बीजेपी में ही थी. दस साल से बीजेपी के साथ जुड़ी थी लेकिन बीजेपी ने चुनाव में टिकट नहीं दिया. तो नेत्री ने अपने आदर्श अपनी आस्था और विचारधारा को बदलकर कांग्रेस में प्रवेश कर लिया.

जरुर पढ़ें:  2019 लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी गठबंधन को लगा बड़ा झटका!

चाल चेहरे और चरित्र की बात करने वाली बीजेपी के चरित्र को तार-तार करने वाली इस महिला का नाम विद्या पटेल हैं. मध्यप्रदेश के कटनी जिले में पिछले दस साल से ये बीजेपी की राजनीति कर रही थी. पार्टी की रीति नीति पर चलती आ रही थीं. लेकिन अब इन्होंने कांग्रेस का झंडा उठा लिया है. दरअसल ये जिले की बहोरीबंद सीट से टिकट की दावेदार थीं. लेकिन इनकी दाल यहां नहीं गली तो इनका गुस्सा फूट पड़ा और बीजेपी के लिए वो कह दिया जो किसी पार्टी के लिए किसी चीरहरण से कम नहीं हो सकता.

इस महिला ने इतने संगीन आरोप दस साल तक क्यों नहीं लगाए और अब वो क्यों बोल रही है ये कोई सवाल ही नहीं है क्योंकि सबकों पता है राजनीति में यही होता है लेकिन सवाल और हैरान करने वाली बात ये है कि बात बात पर मानहानी का केस करने वाली बीजेपी पार्टी इतनी बड़ी मानहानी पर मौन क्यों है.

जरुर पढ़ें:  चुनावी किस्से- हेलिकॉप्टर तैयार कर सिंधिया दिल्ली में बैठे रहे और मुख्यमंत्री कोई और बन गया
महिला नेता विद्या पटेल

क्या पार्टी का मौन, महिला के आरोपों का कबूलनामा है ? तो क्या ये माना जाए कि बीजेपी में महिला नेताओं की इतनी बुरी हालत है. अगर नहीं तो फिर विद्या पटेल के संगीन आरोपों पर बीजेपी ने अब कर मानहानी का केस क्यों नहीं किया? पार्टी को इसका जवाब देना चाहिए.

Loading...