पीएम के तौर पर दूसरी बार राजनीतिक सफर पर चल पड़े पीएम मोदी और बीजेपी के सभी नेता एक्शन मोड में हैं. एक के बाद एक बड़े फैसले लेकर जनता को कभी खुशियों की सौगात दे रहे हैं तो कभी हैरानी. इन दिनों नेताओं का अपने पद और कार्यभार संभालने का दौर शुरु हो चुका है. सत्ता की दूसरी पारी में बीजेपी के कई नेताओं को नए पदों की जिम्मेदारी सौंपी गई. तो कई ऐसे हैं जिनको पहली बार मोदी कैबिनेट में जगह मिली.

हाल ही में बीजेपी ने पार्टी के वरिष्ठ नेता को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के उत्तराधिकारी के तौर पर नियुक्त किया . जेपी नड्डा को बीजेपी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. तो वहीं अब बीजेपी ने बीजेपी सांसद ओम बिड़ला को लोकसभा सपीकर की जिम्मेदारी सौंपी है. बीजेपी ने इस बार अनुभव को तरजीह न देते हुए दूसरी बार के सांसद ओम बिड़ला को जब स्पीकर बनाने का फैसला किया तो सभी चौंक गए क्योंकि इससे पहले 2014 में 8 बार की सांसद रहीं सुमित्रा महाजन को स्पीकर बनाया गया था. साथ ही इस बार स्पीकर की रेस में बिड़ला का नाम दूर-दूर तक नहीं था. लेकिन जब बुधवार को ओम बिड़ला लोकसभा अध्यक्ष बने तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में साफ कर दिया कि उन्होंने क्यों बिड़ला को यह अहम जिम्मेदारी दी है.

जरुर पढ़ें:  नतीजों से पहले बीजेपी की भव्य तैयारियां, कार्यकर्ताओं ने बनवाया 7 किलो का लड्‌डू केक

राजस्थान के कोटा से दूसरी बार सांसद चुने गए ओम बिड़ला को अध्यक्ष बनाने का पहला प्रस्ताव पीएम मोदी ने ही लोकसभा में रखा और सदन के उपनेता राजनाथ सिंह ने इस प्रस्ताव का अनुमोदन किया. इसके बाद ध्वनिमत से बिड़ला को सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुन लिया है. वैसे तो ऐसे करीब 10 प्रस्ताव एनडीए के नेताओं ने बिड़ला के समर्थन में रखे थे लेकिन खास बात रही कि कांग्रेस और टीएमसी जैसे दलों ने भी बिड़ला को अध्यक्ष बनाने का समर्थन किया.

प्रधानमंत्री मोदी ने बिड़ला के स्पीकर बनने पर उन्हें बधाई दी और राजनीति में उनके योगदान की खूब सराहना भी. पीएम मोदी ने कहा कि सदन के लिए यह महान गर्व की बात है. सर्वसम्मति से लोकसभा अध्यक्ष चुने जाने पर हम बिड़ला जी को बधाई देते हैं. कई सांसद बिड़ला जी को अच्छी तरह जानते हैं, उन्होंने राजस्थान में भी अपनी सेवाएं दी हैं.

जरुर पढ़ें:  अरविंद केजरीवाल के थप्पड़ पर 'आप' पर ही उठे सवाल, आतिशी ने कहा 'पॉलिटीशियंस को मारते क्यों नहीं'

उन्होंने कहा, “मुझे व्यक्तिगत रूप से लंबे समय तक बिड़ला जी के साथ काम करने का अनुभव याद है. वे कोटा के प्रतिनिधि हैं, शिक्षा और अध्ययन की भूमि कोटा मिनी इंडिया है जो शिक्षा का काशी बन गया है. पीएम ने कहा कि कोटा के विकास में भी बिड़ला जी का योगदान काफी ज्यादा है. वे कई सालों से सार्वजनिक जीवन में हैं, उन्होंने छात्र नेता के रूप में शुरुआत की तब से बिना रुके समाजसेवा कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि बिड़ला जी ने छात्र राजनीति से शुरुआत करते हुए करीब 15 साल तक संगठन में काम किया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता, छात्र नेता के तौर पर उन्होंने जिले, राज्य और राष्ट्र स्तर पर काम किया है. बिड़ला के सामाजिक कार्यों को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वह जनप्रतिनिधि के नाते राजनीति में नहीं हैं बल्कि समाजसेवा की कार्यशैली पर काम करते रहे.

जरुर पढ़ें:  चुनाव हारने के बाद अखिलेश ने फोन तक नहीं किया: मायावती

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here