लोकसभा चुनाव में विवादित बयानों का सिलसिला जारी है, मंच से नाताओं के बिगड़ते बोल राजनीति के गिरते स्तर को दर्शाते हैं. लेकिन इस बीच बयानों के इस माहौल में कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का नाम भी जुड़ गया है. सीएम गहलोत ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया है कि राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद को बीजेपी की ओर से इसलिए चुना गया ताकि गुजरात चुनाव से ठीक पहले उनकी जाति के मतदाताओं को खुश किया जा सके ।

गहलोत ने कहा ‘कि गुजरात चुनाव में फायदा उठाने के लिए बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को राष्‍ट्रपति बनाया ताकि कोली समुदाय को अपने पाले में लाया जा सके. उन्‍होंने कहा, ‘क्‍योंकि गुजरात के चुनाव आ रहे थे। वे घबरा चुके थे कि हमारी सरकार गुजरात में नहीं बनने जा रही है. मेरा ऐसा मानना है कि रामनाथ कोविंदजी को बनाया (राष्‍ट्रपति) जातीय समीकरण बैठाने के लिए और आडवाणी साहब छूट गए।’

जरुर पढ़ें:  J-K के BJP प्रमुख समेत कई नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज, पत्रकारों ने लगाया था पैसों से भरे लिफाफे देने का आरोप

गहलोत ने बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि गुजरात में चुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति बनाया है, ताकि कोली समुदाय को अपने तरफ लाया जा सके. उन्होंने गुजरात चुनाव को देखते हुए ये बोला. गहलोत ने कहा कि बीजेपी वाले घबरा गए है, गुजरात में उनकी सरकार नहीं बनने वाली. उन्होंने कहा मानना है कि रामनाथ कोविंदजी को बनाया (राष्‍ट्रपति) जातीय समीकरण बैठाने के लिए और आडवाणी साहब छूट गए।’
राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद दलित समुदाय में आने वाले कोली जाति से ताल्‍लुक रखते हैं.अशोक गहलोत जो कि कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं की लिस्ट में उनका नाम शामिल है. लोकसभा चुनाव का आगाज हो चुका है. लेकिन नेताओं के विवादित बयानों की सिलसिला जारी है. लगता है चुनाव आयोग की सख्ती हमारे नेताओं पर कोई असर नहीं हो रहा है. कभी कोई धर्म की राजनीति कर रहा है, तो कोई राष्ट्रवाद के नाम पर ।

जरुर पढ़ें:  गांधीनगर से नामांकन करेंगे अमित शाह, कई वरिष्ठ नेता रहेंगे मौजूद..
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here