116 प्रोफेसर नही कर पाए VVPAT-EVM की परिक्षा पास, जिलाधिकारी ने जारी किया कारण बताओ नोटिस..

जल निगम, बिजली व सिंचाई विभाग में इंजीनियर, डिग्री कॉलेज के प्रोफेसर लेक्चरार, इंटर कालेज के विज्ञान के अध्यापक. क्या ये पढ़े-लिखे लोग वीवी पैट व ईवीएम की सामान्य कार्यप्रणाली भी नहीं समझ पाएंगे. कोई भी यह मानने को तैयार नहीं होगा. लेकिन शनिवार को ईवीएम व वीवी पैट के प्रशिक्षण के बाद हुए टेस्ट में इंजीनियर,प्रोफेसर व अध्यापक फेल हो गए. यह देखकर प्रशासन भी दंग रह गया. जबकि इन सभी को प्रशासन ईवीएम-वीवी पैट के गुर सिखाकर आगे पीठासीन अधिकारियों और मतदान कर्मियों को ईवीएम व वीवी पैट में महारथी बनाना है.

मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण लेने वाले करीब 50 फीसदी लोग फेल हो गए. पास होने वालों में भी कई ग्रेस नम्बर से पास हुए. बता दें कि 252 लोगों में से 116 फेल हो गए. इंजीनियर और डिग्री व इंटर कॉलेज के अध्यापकों के इस तकनीकी ज्ञान को देखकर जिलाधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी कौशल राज शर्मा ने सख्त नारजगी जताई. उन्होंने फेल होने वाले इंजीनियरों और लेक्चरार को कारण बताओ नोटिस जारी किया. साथ ही विभागीय कार्रवाई की चेतावनी दी.

जरुर पढ़ें:  जीत मिलते ही पीएम मोदी ने हटाया नाम के आगे से 'चौकीदार', पार्टी के नेताओं को भी दिया आदेश

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मास्टर ट्रेनर्स को ईवीएम व वीवी पैट की ट्रेनिंग और सामान्य प्रशिक्षण की ट्रेनिंग दी गई थी. जिसमें 124 लोगों को ईवीएम व वीवी पैट और 128 लोगों को सामान्य प्रशिक्षण दिया गया. ट्रेनिंग के बाद इन मास्टर ट्रेनर्स को पीठासीन अधिकारियों और मतदान कार्मिकों को ट्रेनिंग देनी थी. लेकिन ट्रेनिग के बाद जब इन मास्टर ट्रेनर्स की परीक्षा हुई तो 50 फीसदी के करीब लोग फेल हो गए. यह देखकर जिला निर्वाचन अधिकारी व जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने अफसोस जताते हुए सभी को शो काज़ नोटिस जारी किया.

दोबारा हुए फेल तो विभागीय कार्रवाई

जिलाधिकारी ने सख्त रुख अपनाते हुए कहा है कि मास्टर ट्रेनर्स की फिर से ट्रेनिंग होगी. और फिर से परीक्षा भी होगी. अगर इस बार फेल होते हैं तो ऐसे लोगों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू की जाएगी.

जरुर पढ़ें:  जलियांवाला बाग की 100वी बरसी पर राहुल ने शहीदों को दी श्रद्दांजली,जानिए क्या है जलियांवाला बाग हत्या कांड..

ईवीएम व वीवी पैट की परीक्षा में फेल

एडीएम (एलए 2) मनीष नाहर ने बताया कि गोमती प्रदूषण निर्माण इकाई, जीबी पंत पालीटेक्निक, जल निगम के 2, नहर सिंचाई विभाग, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के 12 और विद्युत विभाग के दो इंजीनियर फेल हुए.

सामान्य प्रशिक्षण में फेल

डिग्री कालेजों के 28 प्रोफेसर व लेक्चरार, इंटर कॉलेज के 33 अध्यापक व प्राइमरी विद्यालयों के 34 अध्यापक फेल हुए हैं.

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here