नई दिल्ली। 10 साल तक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले दिग्विजय सिंह इन दिनों मध्यप्रदेश की राजनीति में सक्रिय तो नज़र आ रहे हैं. लेकिन वो राहुल गांधी की रैलियों, भाषणों और उनके साथ मंचों से नदारद नज़र आ रहे हैं. प्रदेश की राजनीति को समझने वाले इसके कई मायने निकाल रहे हैं. लेकिन उनकी मंचों से दूरी का राज़ दिग्विजय सिंह ने खुद राज खोल दिया है.

उनका एक वीडियो अब खूब वायरल हो रहा है. इस वीडियो में आप सुन सकते हैं कि दिग्विजय सिंह कहते हुए दिख रहे हैं कि उनके भाषण देने से पार्टी के वोट कटते हैं. यानी दिग्विजय सिंह ने कबूल कर लिया है कि उनके भाषण कांग्रेस को नुकसान पहुंचाते हैं, इसीलिए वो कोई रैली या जनसभा नहीं कर रहे हैं.

जरुर पढ़ें:  मतदान से 24 घंटे पहले चौतरफा घिरी बीजेपी, NaMo TV से लेकर राफेल पर मोदी सरकार को झटका

दिग्विजय सिंह जो बात कह रहे हैं, कांग्रेस के कई नेताओं को समझने की ज़रूरत है! pic.twitter.com/yUhMMvO6er


ये वीडियो तब का है जब दिग्गी राजा दो दिन पहले कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी के घर पहुंचे थे और जब वे वहां से बाहर निकले तो कांग्रेसी कार्यकर्ता उनके सामने खड़े हो गए. इसके बाद दिग्विजय सिंह का दर्द छलक पड़ा. उन्होंने कार्यकर्ताओं को नसीहत भी दी.

दरअसल, दिग्विजय सिंह के दर्द के पीछे कई वजहें भी हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब भोपाल आए तो रोड शो और भेल दशहरा मैदान में रैली के जगहों पर उनके कटआउट नदारद थे. पूरे शहर में तमाम कांग्रेसी नेताओं की तस्वीरें और होर्डिंग लगे थे लेकिन दिग्विजय सिंह की होर्डिंग नजर ना आने से पार्टी की आपसी गुटबाजी भी साफ नजर आई थी.

जरुर पढ़ें:  राजस्थान चुनाव: गांव के लोगों ने कांग्रेस नेता की जमीन पर रगड़वाई नाक!

हालांकि इसके लिए बाद में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह से माफी मांग ली थी. लेकिन दूसरे नेताओं ने इसे दिग्विजय सिंह के खिलाफ साजिश बताया था. अब देखना ये होगा कि क्या दिग्विजय सिंह का मंचों पर मौन रहना पार्टी के लिए फायदमंद होता है या नुकसानदेह. इसके लिए हमें चुनाव के नतीजों का इंतज़ार करना पड़ेगा लेकिन आप की क्या राय है क्या वाकई दिग्विजय के बोलने से कांग्रेसे के वोट कटते हैं. अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here