कमेटी की बैठक बनी जंग का मैदान, कांग्रेसियों में हुई हाथापाई

लोकसभा चुनाव नजदीक है. और ऐसे में सभी राजनैतिक पार्टियां अलग अलग मुद्दो को लेकर विपक्षी पार्टियों पर तंज कसने और खुद को बैस्ट साबित करने में जुटी हुई हैं. लेकिन इसी बीच एक खबर ऐसी सामने आई है. जो शायद कांग्रेस के लिए एक बुरी खबर साबित हो सकती है.

कांग्रेस की ओर से लोकसभा प्रत्याशियों के चयन को लेकर एक बैठक बुलाई गई. लेकिन बातचीत के साथ शुरू हुई वो बैठक अचनक जंग का अखाड़ा बन गई. बता दें कि बैठक के दौरान नारेबाजी को लेकर पूर्व सीएम हरीश रावत और पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. संजय पालीवाल के समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हो गई.

जरुर पढ़ें:  TMC की विधायक ने दिया कार्यकर्ताओं को ज्ञान, कहा- सुरक्षाबलों की करना झाड़ूओं से पिटाई

लोकसभा प्रत्याशी चयन की बैठक बनी अखाड़ा, कांग्रेसियों में जमकर मारपीट
और थोड़ी ही देर में मारपीट के साथ साथ एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी की गूंज चारो ओर फैल गई. और ये सिलसिला करीब आधे घंटे तक यूं ही जारी रहा.. बाद में वरिष्ठ कांग्रेसियों ने किसी तरह से मामले को शांत कराया.

दरअसल कमेटी की ओर से रायशुमारी के लिए नेताओं को कमरे के अंदर बुलाया जा रहा था. इस दौरान कमरे के एक ओर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के समर्थक. तो दूसरी ओर पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. संजय पालीवाल के समर्थक खड़े हो गए. और उन्होंने अपने-अपने नेताओं के समर्थन में नारेबाजी शुरू कर दी. इसी बीच किसी ने हरीश रावत मुर्दाबाद कह दिया. इसके बाद तो कमेटी वो बैठक- बैठक न होकर जंग का मैदान बन गई. दोनों गुट एक-दूसरे पर टूट पड़े और जमकर हाथापाई हुई.वही पूर्व महापौर यशपाल राणा, डॉ. संजय पालीवाल, पूर्व राज्यमंत्री मनोहर लाल शर्मा समेत वरिष्ठ नेताओं ने गुस्साए कार्यकर्ताओं को किसी तरह से शांत कराया. तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के पर्यवेक्षक महेंद्र पाल सिंह ने इस पूरी घटना पर परदा डालते हुए कहा कि मारपीट नहीं हुई है. बस जोश में कार्यकर्ता नारेबाजी कर रहे थे.

जरुर पढ़ें:  सर्वशिक्षा अभियान को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा कदम,चुनाव के दैरान गरीबों को लुभाने की कोशिश

अब कमेटी की बैठक में हुए इस बवाल को हास्य जनक कहा जाए. या पार्टी के लिए चिंता जनक,, लेकिन इससे इतना तो कहा जा सकता है कि कांग्रेसियों की ये हरकत कांग्रेस के लिए एक बड़ी मुसीबत साबित हो सकती है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here