चुनावी दंगल में नेताओं के बीच बयानबाजियां अकसर देखने को मिलती हैं. लेकिन कई बार नेताओं को उनकी ये बयानबाजियां भारी पड़ जाती है. इसी कड़ी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें भी थमने का नाम नहीं ले रहीं. राहुल गांधी के खिलाफ मानहानी का केस दर्ज कराया गया है.

दरअसल बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का एक अपराधिक मुकदमा भारतीय दंड विधान की धारा 500 के अंतर्गत गुरुवार को पटना के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में दर्ज कराया है. इस मुकदमे में दो वर्ष की सजा का प्रावधान है.

जरुर पढ़ें:  मोदी कैबिनेट का फैसला: मोदी राज में किसानों केआए अच्छे दिन, हर साल मिलेंगे 6 हजार रुपए

बता दें कि राहुल गांधी ने बीते 13 अप्रैल को बेंगलुरु से कुछ दूरी पर स्थित कोलार में अपनी एक चुनावी रैली में भाषण के दौरान ‘मोदी’ टाइटल वाले प्रत्येक व्यक्ति को चोर बताया था. उन्होंने इस बात को कई बार दोहराया साथ ही उनका यह भाषण कई टीवी चैनलों पर लाइव दिखाया गया. अखबारों में भी यह खबर प्रमुखता से छपी.

राहुल के इस बयान पर नाराजगी जताते हुए उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कोर्ट मे अपनी अर्जी दी है. मोदी ने कोर्ट में दाखिल अपनी अर्जी में राहुल गांधी पर आरोप लगाया है कि उनके इस तरह के भाषण से जितने भी ‘मोदी’ टाइटल वाले व्यक्ति हैं, उनको चोर बताया गया है. इससे समाज में उनकी छवि धूमिल हुई है. यह एक अपराधिक कृत्य है. इसकी सजा राहुल गांधी को अवश्य न्यायालय द्वारा मिलनी चाहिए.

जरुर पढ़ें:  MP चुनाव: कांग्रेस ने जारी की 16 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, जानिए किस-किस को मिला टिकट?

इस मुकदमे में उनके गवाह संजीव चौरसिया, नितिन नविन, मनीष कुमार हैं. उन्होंने कोर्ट से यह दरख्वास्त की है कि मामले में राहुल गांधी के खिलाफ संज्ञान लेकर उन्हें न्यायालय द्वारा तलब किया जाये एवं उनके खिलाफ मानहानि का अपराधिक मुकदमा चला कर सजा दी जाए

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here