अगर आप WWE देखते होंगे, तो आपने लड़कियों की फाइटिंग ज़रुर देखी होगी। इस फाइट में अब तक सिर्फ विदेशी लड़कियां होती थीं, जो विदेशी परिधान में फाइट करती दिखती थीं। लेकिन आज उसी रेसलिंग रिंग में सलवार-सूट पहने एक लड़की ने विदेशी फाइटर को धूल चटा दी। आज से पहले शायद ही ऐसा आपने सुना या देखा हो। कहते हैं, महिलाएं सूट-सलावर पहनकर घर के काम करते ही अच्छी लगती है। लेकिन कविता ने इस मिथक को तोड़ दिया है। कविता देवी ने रेसलिंग रिंग मे उतरकर सलवार सूट में एक विदेशी की ऐसी पटखनी दी, कि उसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब धूम मचा रहा है।

कविता देवी खली की शिष्या

जी हां, स्पोर्टस की दुनिया में भारतीय लड़कियों ने जो कमाल कर दिखाया है, वो सभी के सामने आया है। लेकिन फाइटिंग की दुनिया में पहली बार किसी भारतीय महिला ने कदम रखा और वो कर दिखाया, जिसकी हर कोई वाह-वाही कर रहा है। WWE रेसलिंग में ‘द ग्रेट खली’ के बाद भारतीय महिला ने सूट-सलवार पहनकर विदेशी लड़कियों का डटकर मुकाबला किया।

जरुर पढ़ें:  रणबीर के साथ स्पॉट होने के बाद फिर सुर्खियों में माहिरा, सोशल मीडिया पर छाया वीडियो
कविता देवी खली की शिष्या

आपको बता दें, कि 34 साल की भारतीय महिला कविता देवी का ये फाइट वीडियो WWE की ऑफिशियल वेबसाइट पर रिलीज किया है, जिसमें कविता देवी न्यूजीलैंड की रैसलर डकोट काई के साथ रिंग में लड़ती हुई नज़र आई। इस वीडियो की खास बात यही है कि WWE में फाइटिंग के दौरान उन्होंने सूट-सलवार और चून्नी पहनकर फाइट लड़ी और डकोट काई की हालत खराब कर दी।

कविता देवी खली की शिष्या

डब्‍ल्‍यूडब्‍ल्‍यूई में अक्‍सर विदेशी पहलवानों को ही लड़ते देखने वाले दर्शकों के लिए यह शानदार मौका था, जब इस रिंग में उन्‍हें पहली भारतीय पहलवान नजर आई। बता दें, कि इस रिंग में उतरीं कविता देवी द ग्रेट खली की शिष्या हैं। WWE ने 14 जुलाई से शुरु हुए ‘मे यंग क्लासिक’ टूर्नामेंट के वीडियो रिकॉर्ड किए थे, जिन्हें अब धीरे-धीरे यूट्यूब पर डाला जा रहा है। इस मैच के पहले ही राउंड में कविता देवी हारकर बाहर हो गई थीं, लेकिन वे इस रिंग में उतरने वाली पहली भारतीय महिला जरूर बन गई हैं। उनका मुकाबला 32 विमेन के इस एलिमिनेशन टूर्नामेंट में डकोटा काई के साथ हुआ।

जरुर पढ़ें:  बिग बॉस से निकाले गए प्रियांक शर्मा घर में दोबारा करेंगे वापसी

इस टूर्नामेंट का आयोजन WWE की ग्रेटेस्ट विमेन रेसलर्स में से एक रहीं WWE हॉल ऑफ फेमर ‘मे यंग’ की याद में किया गया है। ये एक एलिमिनेशन टूर्नामेंट है, जिसमें दुनिया के कई देशों से टॉप महिला रैसलर्स ने हिस्सा लिया था। कविता देवी के मुकाबले की बात करें, तो रिंग में लड़ाई के दौरान कविता और डकोटा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला। लेकिन इस हार्ड हिटिंग कॉन्टेस्ट में डकोटा की स्पीड और ताकत के सामने कविता ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई। लेकिन भारतीय महिलाओं के लिए कविता देवी एक बड़ी मिसाल बन गई हैं।

Loading...