केबीसी में जो आता है, वो अपनी किस्मत चमका कर चला जाता है। कई हजारों जीतते हैं, तो कई लाखों और करोडों। यानी अपनी नॉलेज से करोडपति बन जाते हैं और इस साल के केबीसी सीजन-9 में जो करोडपति बनी हैं, उनका नाम है अनामिका मजूमदार। लेकिन अब शो अपने आखरी पड़ाव पर है और जल्द ही खत्म होने वाला है। शो के बंद होने से पहले आज हम आपको उनका हाल बताने जा रहे हैं, जो कभी केबीसी से ही करोडपति बने थे।

KBC winner Sushil Kumar from bihar

जी हां, अनामिका से पहले एक और शख्स है, जो करोडपति बने थे, जिनका नाम है, सुशील कुमार।अपने ज्ञान के बलबूते सुशील ने केबीसी से 5 करोड रुपए की धनराशी जीती थी। सुशील बिहार के मोतिहारी जिले के रहने वाले हैं और इतने बड़े शो से 5 करोड जितने के बाद वो बेहद ही मशहूर हो गए थे। जिसके बाद वो ‘झलक दिखला जा’ शो में भी नज़र आए थे। लेकिन शायद आज लोग उन्हें कहीं ना कहीं भूल चुके हैं। वहीं मीडिया ने भी उन्हें कंगाल बता दिया था, जिसकी वजह उनका मजाक था।

जरुर पढ़ें:  देखें वीडियो- ये हीरोइन खाने से ज्यादा सेक्स को देती है तरजीह
KBC winner Sushil Kumar with his wife and Amitabh Bachchan

दरअसल, एक बार जब सुशील को एक पत्रकार का फोन आया, कि वो उनका इंटरव्यू लेना चाहते हैं, तो उन्होंने इंटरव्यू देने से साफ मना कर दिया और मजाक में कह दिया कि अब पैसे खत्म हो चुके हैं, बस इसी मजाक का मीडिया को मसाला मिल गया और उन्होंने सुशील को कंगालपति बना दिया। लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं था, कि वो कंगाल हो गए हैं बल्कि वो महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार सुरक्षा कानून यानी मनरेगा के ब्रांड एंबेसडर बनाए गए हैं।

KBC winner Sushil Kumar in Show ‘Jhalak Dikhla jaa’

इतना ही नहीं, सुशील ने एक इंटरव्यू में कहा था, कि वो प्रोडक्शन कंपनी के लिए स्क्रिप्ट लिख रहे हैं। 5 करोड मिल जाने के बाद सुशील आज वैसे गुमनाम की जिन्दगी जी रहे हैं,लेकिन बेहद ही ऐशोअाराम में जी रहे हैं। सुुशील ने अपने पैसे से एक बिजनेस शुरु किया, साथ ही एक पुश्तैनी घर भी बनवाया। हालांकि अब उनके पास ज्यादा पैसे नहीं बचे हैं, लेकिन वो अपने पैसे से अपने भाईयों के बिजनेस में मदद कर चुके हैं, साथ ही अपनी माता जी के नाम मोतिहारी में एक प्लॉट और खेती खरीद चुके हैं और बचे हुए पैसों से वो एक लाइब्रेरी भी शुरु करने वाले हैं। यानी 5 करोड जीतने के बाद सुशील की जिन्दगी ही बदल गई और आज सुकून की जिन्दगी जी रहे हैं।

Loading...