लोगों को अमूमन सुबह और शाम चाय पीने की आदत होती ही है। सुबह उठते ही और शाम होते ही बस चाय उनके पास आ जानी चाहिए, नहीं तो तूफान खड़ा हो जाता है। कुछ लोग तो चाय के इतने आदी होते हैं, कि वे दो कप की जगह दिन भर में कई कप चाय पी जाते हैं। लेकिन ज्यादा चाय पीने वालों को अक्सर ये बोला जाता है, कि चाय सेहत के लिए हानीकारक होती है इसलिए ज़रा कम पीना चाहिए, साथ ही खाली पेट चाय न पीने की भी सलाह दी जाती है। कहा जाता है, कि चाय पीने से भूख कम लगती है, एसीडिटी बढ़ती है और कई बिमारीयां शरीर में घर कर जाती है। यानी चाय के आजतक आपने सिर्फ नुकसान ही सुने होंगे, लेकिन आपको बता दें, कि चाय के बारे में एक ऐसा खुलासा हुआ है जिससे चाय हानिकारक नहीं बल्कि लाभदायक साबित हुई है। सुनकर भले ही आप चौंक जाए, लेकिन एक रिसर्च में ये बात साबित हुई हैं।

जरुर पढ़ें:  दिल्ली की जहरीली हवा से, ये चीजें रखेंगी आपको हैल्थी-ज़रुर पढें
Demo Pic Tea Cup

रिपोर्ट में ये बात साफ हो गई है, कि चाय बुढापे में बेहद फायदेमंद है, जो बढ़ती उम्र के साथ लोगों को ज़रुर पीनी चाहिए, क्योंकि चाय पीने से बुढापे में होने वाली बिमीरी डिमेंशिया होने का खतरा नहीं रहता है। जीहां, एक कप चाय आपकी भूलने की बिमारी को दूर कर सकती है। रिसर्चर के मुताबिक, चाय भूलने की बीमरी को 50% तक कम कर सकती है।

नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के साइंटिस्ट ने इस बात का दावा किया है, कि ग्रीन टी हो या ब्लैक टी आपको दोनों ही फायदा देंगी। दोनों तरह की चाय बूढापे में आपकी याददाश तेज रखेंगी। बता दें, कि रिसर्चर्स ने चाय की पत्तियों में कैटेचिन और थियाफ्लेविन नाम का एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सेंट के फायदों वाले पत्ते पाएं गए हैं, जो दिमाग के उस जगह को प्रभावित करते हैं, जो यादों को बनाएं रखता है। तो अब आप खुलकर चाय पी सकते हैं, इससे आपकी सेहत भी ठीक रहेगी और मस्त भी रहेगी और अपनी सभी यादों को आप संभालकर रख सकेंगे।

Loading...