एक अच्छा पोस्चर वही होता है, जिस पोस्चर में बैठने से आपकी बॉडी को अराम मिलता हो। आप किस तरह का पोस्चर अपनाते हैं? कहीं आप भी पैरों को क्रॉस करके तो नहीं बैठते हैं? अगर आप भी आॉफिस या ट्रेवलिंग के दौरान पैरों को क्रॉस करके बैठना पसंद करते हैं, तो अब ज़रा इस आदत को बाय-बाय कर दीजिए, वरना आपकी ये आदत आपपर भारी पड़ सकती है।

दरअसल इस तरह का पोस्चर आपकी सेहत को खराब कर सकता है। भले ही इस पोस्चर से आपको रिलेक्स फील होता हो, लेकिन आपको इस बात का अंदाज़ा नहीं होगा कि, पैरों को क्रॉस करके बैठने से आपकी सेहत पर कितना गंभीर असर पड़ सकता है।

स्पाइडर वेन की समस्या

अगर आप पैरों को क्रॉस करके बैठते हैं, तो इस बात को ज़रुर जान लें, कि ये पोस्चर आपको स्पाइडर वेन की प्रॉब्लम दे सकता है। हम जब पैरों को एक-दूसरे के ऊपर रखते हैं, तो पैरों तक पहुंचने वाला खून रुक जाता है, जिससे बॉडी में खून उल्टा चलने लगता है। यानी ब्लड वापस हार्ट की तरफ सर्कुलेट करता है। इसकी वजह से पैरों की नसे कमज़ोर हो जाती हैं और खून जमा होने लगता है, इससे आपके पैरों की एनर्जी वीक होने लगती है और इसी समस्या को स्पाइडर वेन कहा जाता है।

जरुर पढ़ें:  कान के मैल को साफ करने का ये तरीका जानते हैं ?

पीठ और गर्दन मेें पेन

क्रॉस पैर करके बैठने से बैक और नेक में पेन की प्रॉब्लम भी हो सकती है। जब आप पैरों के क्रॉस पोस्चर में बैठते हैं, तो आपके हिप्स टॉर्क की पोजिशन में आ जाते हैं, जिससे आपकी पेल्विक बोन पर असर पड़ता है और पेल्निक बोन का सीधा जुडाव आपकी बैक बोन यानी रीढ की हड्डी से होता है। जितना आप पेल्विक बोन को घूमाते हैं और अस्थिर रखते हैं, आपकी बॉडी में बैक और नेक पेन की समस्या उतनी ही ज़्यादा होती हैं।

हाई ब्लड प्रेशर

क्रॉस लेग करने से ब्लेड प्रेशर बढ़ने की समस्या होती है। जब आप क्रॉस लेग करके बैठते हैं, तो आपकी बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन उल्टा होने लगता है। ब्लड ऊपर से नीचे आना बंद कर देता है, और ऊपर की तरफ वापस लौटने लगता है जिससे हार्ट उल्टा पंप करना शुरु कर देता है और इसी वजह से आपका बीपी इतना बढ़ सकता है, कि आपकी जान भी जा सकती है।

जरुर पढ़ें:  अगर ब्रेकअप हो गया तो "U DON'T WORRY" ट्राय करें ये कुछ खास टिप्स

बढ़ सकती है हर्ट प्रॉब्लम

बॉडी में जब ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाता है, तो इसका सीधा असर आपके हार्ट पर पड़ता है क्योकि बॉडी में ब्लड पहुंचाने का काम दिल का होता है। इस वजह से हार्ट प्रॉब्लम भी बढ़ सकती है। ये प्रमाणित तो नहीं है, लेकिन क्रॉस पैर करके बैठने से दिल की बिमारियां होने का भी खतरा भी रहता है।

पुरुषों के स्पर्म पर पड़ता है असर

लड़के पैंट पहनने के बाद अगर कई घंटे तक अपने पैरों को घुटने के ऊपर रखकर बैठते हैं, तो नीचे का पार्ट गर्म हो जाता हैं, जिसकी वजह से स्पर्म की संख्या पर भी असर पड़ता है। इसीलिए पुरुषों को पैरों को क्रास करके नहीं बैठना चाहिए।

जरुर पढ़ें:  सर्दियों में गोरा चेहरा चाहिए? ये नुस्खे आपको बना सकते हैं खूबसूरत

पैरों की नसे हो जाती हैं खराब

क्रॉस लेग करके बैठने से ब्लड दिल तक वापस जाने के साथ-साथ आपकी टांगों और पैरों की नसों को नुकसान पंहुचाता है। घुटने से लेग को क्रॉस करने से आपके पेरोनोल नर्व पर दबाव पड़ता है, पेरोनोल आपके पैर में मेन नर्व होती है जो घुटने के नीचे और पैर के बाहर से गुजरती है। ये दबाव टांग और पैर की कुछ मांसपेशियों में अकड़न और अस्‍थाई पैरालिसिस की वजह बन जाती है।