लखनऊ। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। आतंकी को श्रद्धांजलि देने का मामले में विश्वविद्यालय ने तीन छात्रों को निष्कासित कर दिया है। विश्विविद्यालय ने 9 छात्रों को मामले में कारण बताओं नोटिस जारी किया है। साथ ही इस मामले में वायरल हुई वीडियो की जांच की जा रही है।

बता दें कि पिछले दिनों विश्विद्यालय में आतंकी मन्नान वानी को श्रद्धांजलि दी गई। इस क्रम में विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया था। इसमें छात्र आजादी, आजादी के नारे लगा रहे हैं। कहा जा रहा है कि ये वीडियो भी कल का ही है और ये नारेबाजी भी उसी वक्त हो रही है जब छात्र आतंकी को श्रद्धांजलि देने के लिए जुटे थे।

जरुर पढ़ें:  मुहब्बत के लिए छोड़ दिया राजपाट, अंजाम की परवाह किए बगैर अपने प्यार से की शादी

इस वीडियो में आवाज तो उतनी साफ नहीं आ रही है लेकिन इतना सुनाई दे रहा है कि इसमें छात्र आजादी, आजादी के नारे लगा रहे हैं। इस मामले में पुलिस कहना है कि वायरल वीडियो की जांच की जा रही है और आजादी के नारे लगाने वाले छात्रों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

ताजा जानकारी मिलने तक एएमयू प्रशासन ने तीन सदस्य कमेटी गठित की है. ये कमेटी एएमयू प्रशासन को 72 घंटे में रिपोर्ट देगी। वहीं नौ छात्रों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है जिसको 48 घंटे में जवाब देने के लिए कहा गया है। वहीं इस मामले में एएमयू प्रशासन ने तीन छात्रों विश्विविद्यालय ने निष्कासित कर दिया है।

जरुर पढ़ें:  भारत पर भड़के ट्रंप, किया ये ट्वीट

वहीं मामले में पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष फैजुल हसन ने कहा कि वह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की हिमायत करते हैं लेकिन राष्ट्रद्रोह या आतंकवाद किसी भी हाल में सहन नहीं किया जाएगा। दहशतगर्दों के समर्थन का कोई भी कार्यक्रम विश्वविद्यालय परिसर में नहीं होने दिया जाएगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here