योगगुरू बाबा रामदेव जब भी कुछ बोलते हैं तो उसकी आवाज बहुत दूर तक सुनाई देती है. इस बार भारत के 70वें गणतंत्र दिवस पर बाबा रामदेव ने हरिद्वार स्थित पतंजलि फेज एक में 108 फुट ऊंचे विशाल तिरंगे का ध्वजारोहण करने के बाद कहा कि पिछले 70 सालों में किसी भी संन्यासी को भारत रत्न नहीं मिला है.

कई संन्यासी ऐसे हैं जिन्होंने भारत रत्न पाने के लिए अभूतपूर्व कार्य किए हैं. यह दुर्भाग्य है कि किसी भी संयासी को आज तक भारत रत्न से सम्‍मानित नहीं किया गया. बाबा रामदेव ने भारत सरकार से आग्रह किया है कि भविष्य में किसी सन्यासी को भी भारत रत्न दिया जाए. उन्‍होंने सरकार से पूछा है कि सन्‍यासियों को भारत रत्‍न अभी तक क्‍यों नहीं मिला.

जरुर पढ़ें:  'PM Narendra Modi' की रिलीज डेट जारी, लेकसभा चुनाव के दौरान होगी रिलीज..

बता दें, बाबा रामदेव ने लोगों की आस्था को देखते हुए जल्द से जल्द भगवान श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण की मांग की है. राम मंदिर निर्माण में हो रहे विलंब पर योग गुरु बाबा रामदेव का कहना है कि भगवान श्री राम राजनीतिक मुद्दा नहीं है और न ही यह किसी पार्टी के लिए वोट बैंक है और न ही भगवान राम मजहबी मसला हैं. राम इस राष्ट्र के स्वाभिमान हैं और इस राष्ट्र में रहने वाले हर व्यक्ति के आचरण में भी हैं.

भगवान श्रीराम को इस राष्ट्र में सम्मान मिलना चाहिए और जो भी कानूनी प्रक्रिया चल रही हैं, उन्हें जल्द पूरा कर एक भव्य राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. इसके साथ ही बाबा रामदेव ने गणतंत्र दिवस के मौके पर मैं महान तो मेरा देश महान की तर्ज पर सभी देशवासियों से आग्रह किया कि वह दो से ज्यादा बच्चे पैदा न करें. क्योंकि दिन प्रतिदिन देश पर आबादी का बोझ बढ़ रहा है.

जरुर पढ़ें:  आम जनता से लेकर सेलिब्रिटीज तक सबने दिया वोट, जानिए कौन कौन है लिस्ट में शामिल..
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here