रावन फिल्म में शाहरुख खान ने करीना कपूर का भले ही छम्मकछल्लो कह दिया हो, लेकिन आप शाहरुख बनने की कोशिश मत करना। किसी लड़की के लिए इस तरह के शब्द का इस्तेमाल करना आपके लिए काफी भारी पड़ सकता है।वैसे लड़के अक्सर लड़कियों को कभी आइटम, तो कभी माल और कभी-कभी छम्मकछल्लो जैसे संबोधनों से ही पुकारते हैं, भले ही वो ये चुपके से अपने दोस्तों के बीच करते हो। फिल्मों से सुर्खियों में आए ये शब्द लड़कियों के लिए बेहद अपमानजनक होते हैं इसलिए उन्हें बेइज्जत करने के लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन अब ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने वाले लड़कों को सावधान हो जाना चाहिए, क्योंकि किसी लड़की को छम्मकछल्लो कहने पर आपको जेल की हवा खानी पड़ सकती है। 

जरुर पढ़ें:  मॉडल के लिए हाथ-पैरों के बाल बने मुसीबत, मिली रेप की धमकी

छम्मकछल्लो गाना गुनगुनगुनाने का शौक हो तो, बेशक गुनगुनाएं, लेकिन लड़कियोंं से दूर। अगर किसी लड़की ने आपका ये गाना सुन लिया और उसे लगा, कि ये गाना आपने उसके लिए गाया है, तो आप धारा 509 (शब्द, इशारे या किसी गतिविधि से महिला का अपमान) के तहत जेल भेजे जा सकते हैं। और ये हो चुका है, महाराष्ट्र के ठाणे के एक शख्स को महिला को छम्मकछल्लो कहने पर कोर्ट ने न सिर्फ दोषी पर जुर्माना लगाया, बल्कि उसे कैद की सजा भी सुनाई।

Demo Pic

मामला 9 जनवरी 2009 का है, जब एक महिला ने थाने में शिकायत की थी, कि उसके पड़ोसी ने उसे छम्मक छल्लो कहकर अपमानित किया अब इस मामले में 8 साल बाद फैसला आया है। शिकायत में महिला ने आरोप लगाया था, कि 9 जनवरी को वो अपने पति के साथ सैर से लौट रही थी, तब उसे एक कूडेदान से ठोकर लग गई। दरअसल कूड़ादान उसके पड़ोसी ने सीढ़ियों पर रखा था, इसी पर पड़ोसी से उसकी बहस हो गई। इसी बबस में पड़ोसी ने महिला को छम्मकछल्लो कहकर पुकारा, ये सुनकर महिला भड़क गई और इसे अपना अपमान बताते हुए पुलिस में इसकी शिकायत कर दी।

जरुर पढ़ें:  गजब- जब छूटे हुए 20 यात्रियों को लेने वापस स्टेशन पर पहुंची मेट्रो ट्रेन
Demo Pic

पहले तो पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज करने से ही मना कर दिया था, लेकिन महिला ने हार नहीं मानी और उसने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। कोर्ट ने आरोपी के खिलाफ सुनवाई शुरू की, जिसमें आरोपी को दोषी पाया गया और उसे भारतीय दंड संहिता की धारा 509 के तहत अपराधी करार दिया गया। मजिस्ट्रेट ने अपने आदेश में कहा है, कि “ये एक हिन्दी भाषा का शब्द है, अंग्रेजी में इसके लिए शब्द नहीं है, ये शब्द किसी की तारीफ के लिए नहीं बल्कि उसका अपमान करने के लिए यूज किया जाता है और महिलाओं को इस शब्द से चिढ़ होती है।” कोर्ट ने दोषी पर 1 रुपए का जुर्माना लगाते हुए उसे कोर्ट की कार्यवाही तक जेल में रहने की सजा दी।

Loading...