मुस्लिम समाज में तीन तलाक और उसके बाद हलाला जैसी प्रथाओं से महिलाओं को गुजरते हुए कितनी यातनाएं सहनी पड़ती हैं, ये किसी से छिपा नहीं है, हांलाकि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने एक बार में तीन तलाक को असंवैधानिक करार देते दुए इसपर रोक लगा दी है। लेकिन अभी भी समाज से ये बुराई खत्म होने की बजाय इसपर पर्दा डालने की कोशिशें जारी है, लेकिन इसके क्या परिणाम हो सकते हैं, ये उत्तरप्रदेश में देखने को मिल रहा है। यहां एक तीन तलाक पीड़ित मां की बेटी ने हिंदू धर्म अपनाने की गुहार लगाई और वो इसलिए क्योंकि वो तीन तलाक के दर्दनाक मंजर से नहीं गुजरना चाहती।

जरुर पढ़ें:  बॉलीवुड की इस फेमस हीरोइन को भी तीन तलाक के दर्द से गुजरना पड़ा था
Demo pic

मामला उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से सामने आया है, जहां एक नाबालिग बेटी ने हिन्दू धर्म अपनाने की गुहार लगाई है। 16 साल की इस नाबालिग लड़की का आरोप है, कि उसकी उसकी शादी जबरदस्ती एक 50 साल के अधेड़ से करवाना चाहते हैं। लेकिन नाबालिग पढ़ना चाहती है, इस लड़की के मन में तीन तलाक का खौफ इतना घर कर गया है, कि वो अब मुस्लिम धर्म छोड़कर हिन्दू धर्म अपनाना चाहती है।

Demo Pic

आपको बता दें, कि राजनगर की रहने वाली नाबालिग लड़की, जब 12 साल की थी, तो उसके पिता ने उसकी मां को तीन तलाक देकर घर से बाहर कर दिया था। इसके बाद उसकी मां उसी की आखों के सामने घुट-घुट कर अपनी जिन्दगी जीती रही और लोगों के घरों में काम करके उसको पालती रही। लेकिन अब समाज के दबाव में उसकी मां और समाज के कुछ लोग मिलकर उसका एक अधेड़ के साथ निकाह करवाना चाहते हैं, जो इस लड़की को मंजूर नहीं है। लड़की को डर है, कि कहीं उसका भी वही हाल न हो, जो उसके पिता ने उसकी मां का किया था। इसलिए ये लड़की घर से भागकर शिवसेना नेताओं की शरण में गई है।

जरुर पढ़ें:  साध्वी के रेप से लेकर साधुओं को नपुंसक बनाने तक राम रहीम की पूरी कहानी
Demo Pic-muslim teenager girl

बताया जा रहा है, कि नाबालिग पर 13 साल की उम्र से ही शादी का दबाव बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं, परिवार वालों ने अधेड़ उम्र के शख्स से कुछ पैसे भी लिए है। लड़की का कहना है, वो अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए हिन्दू धर्म अपनाएगी, इसलिए किशोरी पिछले 5-6 महीने से जय शिवसेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित आर्यन के देखरेख में रह रही हैं, लेकिन बता दें, कि लड़की का अबतक धर्मांतरण नहीं हो पाया है।

Loading...