कहते है, किस्मत कब किसकी पलट जाए कुछ पता नहीं होता है। रातों-रात कोई रंक से राजा बन जाता है और कोई राजा से फकीर। लेकिन ये भी बात सच है, कि किस्मत भी उसी के कदम चुमती है, जो खुद हुनर का बादशाह होता है। जिसमें कुछ कर दिखाने का जूनन होता हैं और मेहनत करने का जज्बा। इसी सूत्र को जीवन में उतारकर एक कूडा बीनने वाला शख्स आज अपनी किस्मत और हुनर से वर्ल्ड का मशहूर फोटोग्राफर बन गया है।

विकी रॉय मशहूर फोटोग्राफर

तस्वीर में जिस शख्स को आप देख रहे हैं, उनका नाम विकी रॉय है, पश्चिम बंगाल के एक गरीब परिवार में पैदा हुआ विकी घर से 900 रुपये चुराकर दिल्ली भाग आया था। दरअसल घर में रोज की मार-पिटाई से बेहतर उस कही भागकर आजाद जिंदगी जीना अच्छा लगा और उसने वही रास्ता अख्तियार कर लिया। विकी घर से भागकर दिल्ली तो आ गया था, लेकिन पेट पालने के लिए काम के नाम पर करने के लिए उसके पास कुछ नहीं था। तब विकी ने कूड़ा बीनने का काम शुरु किया।

जरुर पढ़ें:  तीन तलाक से पीड़ित मां का दर्द देख नाबालिग बेटी अपनाना चाहती है हिंदू धर्म

कामयाब लोगों की पहचान ही यही होती है, उनके लिए कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता। ऐसे ही विकी ने अपने करियर की शुरुआत कूड़ा बीनने से की, कुछ दिनों बाद विकी को एक होटल में काम मिल गया, यहां से विकी की जिंदगी में पहला मोड़ आया। एक ग्राहक ने विकी को ‘सलाम बालक ट्रस्ट’ नाम की एनजीओ से मिलवाया। इस एनजीओ की वजह से विकी को 6ठी क्लास में एडमिशन मिल गया। विकी रॉय ने इसी ट्रस्ट से 10 तक की पढ़ाई पूरी की।यहीं प

विकी रॉय मशहूर फोटोग्राफर

यही पढ़ते हुए विकी की मुलाकात दो फोटग्राफर्स के साथ हुई। ये फोटोग्राफर ट्रेनिंग देने का काम किया करते थे। विकी की दिलचस्पी भी फोटोग्राफी में बढ़ने लगी थी। विकी ने इनसे फोटोग्राफी के गुर सीखे और इसके बाद विकी रॉय की किस्मत का दरवाज़ा ऐसे खुला, कि वहां से सिर्फ कामयाबी और खुशियां ही आने लगी। साल 2004 में उनकी संस्था सलाम बालक ट्रस्ट में मशहूर फ्रोटोग्राफर डिक्जी बेंजामिन आए और उन्होंने विकी को अस्सिटेंट बनने का ऑफर दे दिया। विकी इस ऑफर को ना नहीं कर पाए। डिक्जी ने विकी को एक कैमरा भी खरीदकर दिया, इसीसे विकी के लिए मशहूर फोटोग्राफर बनने के सारे दरवाजे खुल गए और धीरे-धीरे अब विकी रॉय मशहूर फोटोग्राफरों में गिनती में शुमार हो गया।

जरुर पढ़ें:  वीडियो देखकर आपका खून खौल उठेगा, इंसान के बीमार होने का जिंदा सबूत है ये
विकी रॉय मशहूर फोटोग्राफर

साल 2007 में विकी ने सोलो शो किया था उसके बाद 2009 में अमेरिका के ‘बाक फाउंडेशन’ के एक मेंटरशिप प्रोग्राम के लिए विकी को चुना गया था। यहां उन्होंने 6 महीने तक न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पुनर्निमाण के कामों की भी फोटोग्राफी की और आज लंदन के व्हाइटचैपल गैलरी और स्वीटजरलैंड के फोटोम्यूजियम जैसी मशहूर जगहों पर भी उनकी फोटोग्राफी की खूब वहा-वाही होती है।

Loading...