सायरन के साथ सों-सों करती लालबत्ती लगी नेता जी की गाड़ी अपने पूरे काफिले के साथ सड़क से आ रही है। उसी वक्त दूसरी ओर से एक मरीज को लेकर एंबुलेंस भी आ रही है। चौराहे पर सुरक्षा में दो पुलिसवाले खड़े हैं। एक तरफ नेता का काफीला है और दूसरी तरफ मरीज की एंबुलेंस। तभी एक जवान और हैंडसम दिखने वाला पुलिसकर्मी नेता जी के काफिले को रोकने के लिए हाथ उठा देता है, तभी दूसरा पुलिसवाला एक कदम आगे बढ़ते हुए एंबुलेंस को रोकने के लिए हाथ उठा देता है। दोनों के हाथ दो तरफ हैं, दोनों एक-दूसरे को देख रहे हैं, दोनों के बीच इशारे होते हैं और आखिरकार एंबुलेंस को रोकने वाला पुलिसवाला हाथ नीचे कर लेता है। नेता जी का काफिला रुक जाता है और एंबुलेंस चली जाती है।

ये रहा वो एड वाला वीडियो-

जरुर पढ़ें:  पीएम मोदी की मां के नाम पर किरण बेदी ने की मिस्टेक, बाद में कबूली गलती

ये भले ही एक विज्ञापन की स्क्रिप्ट हो, लेकिन ऐसा ही वाकया बैंगलुरू की सड़कों पर हूबहू दोहराया गया। बस जगह और किरदार जुदा थे। शहर का ट्रिनिटी सर्किल, बैंगलुरू का वो इलाका, जहां आमतौर पर ट्रैफिक रहता है। दिन शनिवार का था और सब कुछ रोजाना की तरह सामान्य। ट्रैफिक को कंट्रोल करने के लिए चौराहे पर पुलिस सब-इंस्पेक्टर एमएल निजलिंगप्पा की ड्यूटी लगी थी।

शनिवार को ही राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी बेंगलुरु ग्रीन लाइन मेट्रो का उद्घाटन करने आए थे। इवेंट में उद्घाटन के बाद जब वो राजभवन लौट रहे थे। वे उसी रास्ते से गुजरे, जहां निजलिंगप्पा ड्यूटी पर तैनात थे। फिर क्या वहीं सीन दोहराया गया एक और एंबुलेंस थी और दूसरे रास्ते पर राष्ट्रपति का काफिला। निजलिंगप्पा ने बिना देर किए हाथ दिखाया और राष्ट्रपति का काफिला रोक दिया और एंबुलेंस के लिए रास्ता बनाकर उसे जल्दी से रवाना कर दिया। ये निजलिंगप्पा की इंसानियत थी, जिसकी वजह से उन्होंने ऐसा फैसला लिया। उन्होंने एक पद और प्रोटोकॉल को दरकिनार कर एक मरीज को तवज्जो दी। उनकी इस दरियादिली और नेकदिली को सोशल मीडिया से लेकर उनके विभाग तक सराहा जा रहा है, उन्हें शाबासी दी जा रही है।

जरुर पढ़ें:  Wow- गूगल की जॉब को लात मारकर समोसा बेच रहा है ये लड़का
इस पुलिसवाले ने रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला, सोशल मीडिया कर रहा है सलाम
एमएल निजलिंगप्पा, सब-इंस्पेक्टर, बैंगलुरू ट्रैफिक पुलिस

बेंगलुरु ट्रैफिक ईस्ट डिविजन के डीसीपी अभय गोयल ने निजलिंगप्पा के प्रेजेंस ऑफ माइंड की तारीफ करते हुए लिखा है, कि-

निजलिंगप्पा तो एंबुलेंस को रास्ता देते हैं, क्या आप भी ऐसा करते हैं?

पुलिस कमिश्नर प्रवीन सूद ने अपने ट्वीट में लिखा-


TVP ऐसे बहादुर, निडर और नेकदिल सिपाही को सलाम करता है और उम्मीद करता है, कि देश के दूसरे राज्यों के सिपाहियों के लिए निजलिंगप्पा एक मिसाल बनेंगे।

जरुर पढ़ें:  लड़की ने बतायी बलात्कार की दर्दनाक कहानी, सुनकर रौंगटे खड़े हो जाएंगे
Loading...