जीएसटी, इन दिनों इस नाम के इर्द-गिर्द देश की सियासत के साथ ही, पूरी जनता और कारोबारी घूम रहे हैं। जीएसटी का जंजाल ऐसा है, कि हर कोई इसमें उलझा हुआ है, सरकार जितना सुलझाने की कोशिश कर रही है, इसके बारे में फैला भ्रम और जानकारी का अभाव इसे और जटिल और पेचीदा बना रहे हैं। रोज़ रोज़ के नए नियम भी जनता में जीएसटी का खौफ पैदा कर रहे हैं। लेकिन इनसब के बीच जनता के लिए एक अच्छी और राहत भरी खबर ये है कि कुछ चीजों से सरकार ने जीएसटी हटा दिया है।

जीएसटी में पहले पुराना सोना और पुरानी कारों के बेचने पर भी तीन फिसद जीएसटी का प्रावधान था, लेकिन अब सरकार ने इस फैसले को पलटते हुए इससे ग्राहकों को राहत दे दी है। अब आप अगर पुराने सोने के गहने या सोना बेचते हैं या उसे नए में कनवर्ट करते हैं, तो उसपर आपको 3 फिसदी जीएसटी नहीं देना होगा। साथ ही पुरानी कारों पर से भी जीएसटी को हटा दिया गया हैं। सरकार का ये भी कहना है, कि ये कोई पर्सनल बिजनेस के दायरे में नहीं आता है। इसलिए सरकार ने गहनो औप कारों से जीएसटी हटाने का फैसला लिया है।

जरुर पढ़ें:  अब सिरदर्द और मुंह के छालों को जड़ से मिटाने में मददगार साबित होंगे 'पीएम मोदी'

यानी अब आप पुराना सोना, कार या गाड़ी बेचते हैं, तो उस पर आपको किसी भी तरह की कोई जीएसटी नहीं देनी होगा। इतना ही नहीं, आपको 50 हजार तक के गिफ्ट पर भी जीएसटी नहीं देना होगा। सरकार ने पिछले कुछ दिनों पहले ये भी आदेश जारी किया था, कि अगर कोई कंपनी अपने कर्मचारी को 50 हजार तक गिफ्ट देती है, तो उस पर भी किसी तरह की कोई जीएसटी नहीं देनी पडेगी।

आरडब्लूए पर नहीं लगेगा, जीएसटी

आरडब्लूए अपने मेंम्बर्स से 5 हजार तक सर्विसेज और मेेंटेनेन्स चार्ज करता है और उसका सलाना टर्नआवर 20 लाख तक होता है, तो उन्हें जाएसटी नहीं देना होगा। किसी आरडब्लयू का सालाना टर्नओवर 20 लाख है और वो 5 हजार से ज्यादा फिस वसूलता है तो भी उन्हें जीएसटी नहीं दोना होगा।