घूमना, ट्रेवलिंग का शौक किसे नही होता है, आज के वर्किंग टाईम पर सभी कुछ टाईम निकाल कर ट्रेवल करना पसंद करते है, लेकिन ट्रेवलिंग का नाम लेते ही सबसे पहले इंडिया ही हमारे दिमाग में आता है क्योकि इंडिया एक ऐसा देश है जहां सबसे ज़्यादा टयूरिस्ट आते है। तो अगर आप भी कही घूमने का प्लान बना रहे तो गुजरात को स्टेट को बिलकुल मत भुलिए। इसकी खूबसूरती अगर देखना चाहते है तो गुजरात के इन खास जगहों पर जाना बिलकुल मिस ना करें…

रन के कच्छ

अगर आप गुजरात गए है और कच्छ नही देखा तो, कहिए की आपने कुछ नही देखा. रन के कच्छ थार रेगिस्थान में है जो किसी नमक के दलदल के तमाशे से कम नही हैं,जब यहा बारिश का मौसम होता है तो यह नमक पैन का तरह घिरा हुई नज़र आता है इसका नज़ारा अगर रात में देखा जाए तो बेहद खूबसूरत दिखता है जिसे भुला पाना भी मुश्किल हैं. यहा एक ही जगह पर कई तरह के पक्षी भी देखने को मिलते है। साल में मनाया जाने वाला रन फेस्टिवल के टाईम यहा  घुनमा भी बेहद खूबसूरत होता है

वडोदरा

वडोदरा गुजरात की राजधानी है जो बेहद शानदार है यहा वास्तुकला और इतिहास के लोगों के लिए रोक है। मराठों की पूर्व राजधानी, शहर का गौरवशाली अतीत है जहां लक्ष्मी विलास पैलेस के कुछ चीज़े अब भी मौजूद है और गायकवाड़ शाही परिवार अभी भी इस राजसी महल में रहते हैं, भव्यता का एक शानदार उदाहरण और भारतीय रॉयल्टी का कौशल शहर है।इस शहर में काडिया डुंगर गुफाओं की गुफाएं और सुंदर सयाजी बाग भी है

जरुर पढ़ें:  सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रही है, महिला एवं बाल विकास मंत्री

रानी की वाव, पाटन

रानी की वाव एक ऐसा किला है,जिसे एक रानी रानी उदयमती ने बनवाया था। रानी ने ये किला अपने पति, राजा भीमदेव के लिए बनाया था, जो की रानी के लिए उनकी याद हैं। इसे 1603 में बनाया था ये इतना भव्य महल है जिसकी कल्पना करना भी मुश्किल है यह आज भी बहुत मजबूत है इस भवन में खंभे के साथ अच्छी तरह से बनाया गया मंडप है, सुंदर गलियारे, भगवान विष्णु के 10 अवतारों की जटिल मूर्तियां, और कदमवाली की दीवारों पर 400 नेशंस,  यूनेस्को की विश्व धरोहर जगह में से एक आकर्षक धरोहर है।

पालिताना

पालिताना एक फेमस मील का पत्थर, पालिताना दुनिया का सबसे बड़ा पर्वत मंदिर है, यहां शतरंज्या पहाड़ी को विभिन्न आकारों के 900 शानदार मंदिरों के साथ बिंदीदार बनाया गया था और जैनियों के लिए एक श्रद्धेय तीर्थयात्रा है। लेकिन जो पॉलिताना को विशिष्ट बनाता है, वह हिंदू ब्राह्मण हैं जो जैन मंदिरों में पुजारी और एक ही स्थान पर आकर पीर दर्गाह की तरह मुस्लिम तीर्थों के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व करते हैं। एक अन्य अनूठा रिकॉर्ड जो कि पलिताना को कानूनी तौर पर शाकाहारी घोषित करने वाला विश्व का पहला शहर है।

जरुर पढ़ें:  ढिंचैक पूजा का है बीजेपी से कनेक्शन, नए वीडियो में सामने आया सच

अहमदाबाद


राज्य के वाणिज्यिक केंद्र होने के साथ, अहमदाबाद में भी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत काफी आकर्षक हैं। साबरमती नदी के किनारे के दृश्यों में कई रेस्तरां है औऱ उसी के झुकाव में मुंह में पानी आ जाए ऐसै गुजराती भोजन भी है यहा अक्षरधाम मंदिर, कांकरिया झील, केलिको संग्रहालय के वस्त्रों की खोज कर सकते हैं, यह शहर शॉपिंग के लिए बेहतर जगह है।

चंपानेर-पावागढ़  पार्क

एक अन्य यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल, पावागढ़ की तलहटी पर इस पुरातात्विक पार्क को 600 वर्षों की अवधि में बनाया गया था। यह पूर्व-मुगल दिनों से ही एकमात्र अपरिवर्तनीय स्थल रहा है और यह जामा मस्जिद, पावागढ़ किला, हेलिका स्टेप-विला, लखुलीसा मंदिर और केवड़ा मस्जिद जैसी महत्वपूर्ण संरचनाओं का घर है। ये स्मारक इस्लामी, हिंदू और जैन स्थापत्य शैली के प्रभावशाली उदाहरण है। इस आकर्षक स्थल के अंदर ऐतिहासिक जलाशयों, कब्रों, आवासीय भवनों, गेटवे और महलों भी हैं।

सतपुरा

सपुतरा एक हैल्पफुल हिल स्टेशन है,जहां साप ज़्यादा पाए जाते है, जो की 1,000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। सरकार ने इसे एक वीजिटिंग प्लेस के तौर पर विकसित करने के लिए कापी प्रयास किए हैं, और यह गुजरात ,पड़ोसी राज्यों के लोगों के लिए एक लोकप्रिय है। मानसून के समय यहां हरियाली छाई रहती है ,झरने, और धुंध से ढके हुए दृश्यों का मज़ा लेने के लिए बेस्ट प्लेस है।

जरुर पढ़ें:  आज गूगल जिसे कर रहा है सलाम, जानिए वो 'आलूवाली' कौन हैं

गिर नेशनल पार्क

दुनिया में गिर नेशनल पार्क एशियाई शेरों का एकमात्र प्राकृतिक आवास है, यहा पास के क्वार्टरों से इन शानदार जानवरों को देखने का अवसर मिलता है। गिर में एक जीप सफारी जरूरी है, जो जंगली जानवरों जैसे काले हिरन, मछली, उल्लू को पकड़ने देते है।

जूनागढ़

 

जूनागढ़ एक किला है जो हिंदू मंदिरों, मस्जिदों और बौद्ध संरचनाओं के लिए घर की तरह है जो बेहद सुंदर वास्तुकला को प्रस्तुत करता हैं, भारत की स्वतंत्रता से पहले जूनागढ़ बाबी नवाबों के शासन के अधीन था। मेहताब मकबरा, एक शानदार मकबरे की एक पुराने वस्तु मणि मानी जाती है

सोमनाथ

 

मंदिरआध्यात्मिक नोट को समाप्त करने के लिए, गुजरात में सोमनाथ मंदिर आपको ज़रुर देखना चाहिए।जो का एक बहुत सम्मानित जगह है और साथ ही वास्तुशिल्प के चमत्कार भी दिखाए जाते है, इस मील के पत्थर को भगवान शिव के 12 पवित्रस्थानों का सबसे पहला और सबसे पवित्र स्थान माना जाता है, जिसे ज्योतिर्लिंग कहते हैं। यह माना जाता है कि भगवान कृष्ण यहाँ अपने स्वर्गीय निवास के लिए रवाना हुए हैं, और आज एक प्रमुख जगह में से एक है।

Loading...