आज तक आपने फिल्मों में देखा होगा या कहानी में सुना होगा, कि कोई जानवर अपने मालिक के कातिल को ढूंढने में पुलिस की मदद करे और उसे सजा दिलाए। ऐसा हकीकत में होना लगभग नामुमकिन लगता है लेकिन ऐसी एक खबर दुनिया के एकल कोने से आई है, जहां एक तोते ने अपने मालिक के कातिल को पकड़वाकर उसे जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है। 

‘कॉपी कैट’ कहे जाने वाला ‘तोता’, वैसे जो सबकी नकल करके आपको हंसाने का काम करता है, लेकिन उस तोते का ये गुण इस काम भी आ सकता है ये किसी ने सोचा भी नहीं था। 2 साल से एक केस उलझा पड़ा था लेकिन इस केस को तोते ने चुटकियों में सुलझा दिया और आरोपी को जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया।

जरुर पढ़ें:  ढिंचैक पूजा का है बीजेपी से कनेक्शन, नए वीडियो में सामने आया सच

मामला अमेरिका के मिशिगन सिटी का है, जहां एक महिला पर उसके पति की हत्या का आरोप लगा था। मामला 2 साल पहले का है, यानी 2015 का। अमेरिका की ग्लेन्ना दुरम नाम की महिला जो अपने पति मार्टिन के साथ मिशिगन के सैंड लेक में रहती थी। ग्लेन्ना दुरम ने अपने पति मार्टिन पर एक के बाद एक पांच गोलियां चलाई थी, जिसके बाद उसने खुद आत्महत्या करने की कोशिश भी की थी।

इस पूरी घटना का चश्मदीद मार्टिन का पालतू तोता था, जिसका नाम ‘बड’ है। बड के अलावा उसवक्त घर पर कोई नहीं था, जो इस घटना को देख रहा हो। पालतू तोता ये ग्लैना को ये सब करते देख मार्टिन की आवाज़ निकालकर बार-बार उसे ऐसा करने से मना कर रहा था। तोता हर बार दोहरा रहा था, कि ‘गोली मत चालाओ’ लेकिन मार्टिन की पत्नी नहीं मानी और उसने अपने पति पर 5 गोलियां दाग दी थी।  पूरे मामले में इस बात का सबूत सिर्फ तोता ही था, कि दुरम ने ही मार्टिन पर गोली चलाई है।

जरुर पढ़ें:  रस्सी बांधकर दो देशों को कर दिया अलग, लेकिन दिल अभी भी एक है

मार्टिन के कत्ल के बाद तोते बड की जिम्मेदारी उसकी एक्स वाइफ क्रिस्टन केलर ने संभाली थी, जिसे ये सारी बात तोते ने बता दी। और इसी आधार पर उसने ये बात सभी को बतायी लेकिन तोते को कोर्ट में गवाह के तौर पर पेश करने की अनुमती नहीं मिली। लेकिन जब पुलिस ने ग्लैना से सख्त पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

अब इस मामले की सुनवाई हो चुकी है, दुरम ही अपने पति की हत्यारी है, तोते ने साबित कर दिया। अगले महीने ग्लेन्ना दुरम को सजा सुनाई जाएगी। जिस पर मार्टिन की मां ने बताया, कि सजा के बाद भी दुरम को कोई पछतावा नहीं दिख रहा है, उन्होंने आगे कहा कि हमें न्याय मिलने में दो साल का समय लग गया, दो साल का वक्त कम नहीं होता है।

Loading...