भारत अपनी संस्कृति और सभ्यता के साथ ही अपने ऐतिहासिक और पौराणिक महत्व के लिए भी जाना जाता है। यहां सदियों पुरानी बनी धरोहर विदेशी सैलानियों को बरबस ही अपनी ओर खींचती है। और इन धरोहरों के दर्शन कर ये विदेशी यहां से उनकी कई यादें अपने साथ ले जाते हैं। इन धरहरों में कई मस्जिदेें भी शुमार हैं जो भारत की खुबसूरती के साथ ही स्थापत्य कला के बेहतरीन नमूने हैं। इन मस्जिदों में की गई नक्काशी और इससे जुड़े किस्से भी बेशुमार है। तो चलिए आज भारत की उन मस्जिदों के बारें में बताते हैं, जिनकी खूबसूरती जानकर आप एकबार इन मस्जिद में जाना ज़रुर चाहेंगे।

1. दिल्ली की जामा मस्जिद

Jama Masjid in old Delhi

ये मस्जिद भारत की सबसे बड़ी मस्जिद है, जो लाल और संगमरमर के पत्थरों से बनी है। ये मस्जिद पुरानी दिल्ली में है, जहां कई विदेशी इसकी खूबसूरती को निहारने आते हैं। ये मस्जिद लाल किले से 500 मीटर की दूरी पर है, इस मस्जिद को बनने में 6 साल का वक्त लगा था और करीब 10 लाख रुपए का खर्च हुए थे। इस मस्जिद मे तीन गेट हैं। मस्जिद का एक दरवाजा उत्तर दिशा की ओर है, दूसरा दक्षिण दिशा में है और तीसरा दरवाजा पूर्व की दिशा में है, जो सिर्फ शुक्रवार को खुलता है। इसके बारे मे कहा जाता है, कि सुल्तान इसी दरवाजे से मस्जिद में आया करते थे।

जरुर पढ़ें:  घर के भेदी ने ढाई लंका उड़ाए 90 लाख, खबर पढ़ कर जाओगे दंग

2. अहमदाबाद की सीदी सैयद मस्जिद

Sidi Sayed Masjid in Ahemdabad

अहमदाबाद शहर के बीचों-बीच बनी सीदी सयैद मस्जिद, जिसे सैलानी जाली वाली मस्जिद के नाम से भी पुकारा जाता है।  क्योंकि इस मस्जिद में अगर कुछ खास है, तो वो है यहां की जाली वाली खिड़कियां, जिसमें नक्काशी का वो खूबसूरत काम देखने को मिलता है, जो विश्व की किसी और मस्जिद में नहीं है। इस मस्जिद में करीब10 जालियां लगी हैं, जिनमें 7 जलियों पर बड़ी ही खूबसूरती के साथ पेड़ की पत्तियों की नक्काशी की गई है। जबकि तीन जालियां खुली हुई हैं। इसकी एक और खास बात ये है, कि ये 12 खंभों पर टीकी हुई इस मस्जिद के गेज पर केवल दो मीनारें हैं और इस मस्जिद के 15 गुबंद बने हुए हैं। लेकिन इसकी खूबसूरती और बढ़ गई है।

जरुर पढ़ें:  दिल दहला देने वाली घटना, एक ही लड़की के साथ 23 लोगों ने किया बलात्कार

3. हैदराबाद की चार मीनार

Char Minar in Hyderabad

हैदराबाद का चारमीनार भारत का शानदार स्मारक है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से सैलानी आते हैं। इस मिनार की खूबसूरती इसके चार मीनार ही हैं, जो हैदराबाद की इस मस्जिद को खूबसूरत बनाते हैं। बता दें, कि कुतुब शाह राजवंश के पांचवे शासक, सुल्तान मुहम्मद कुली कुतुब शाह ने इसका निर्माण कराया था। जिसका नाम दो उर्दू शब्दोंचार और मीनार के नाम पर रखा गया है।

4. कलकत्ता की टीपू सुल्तान मस्जिद

Tipu Sultan Masjid in culcutta

कोलकाता की टीपू सुल्तान मस्जिद भी बेहद मशहूर मस्जिद है। यहां हर धर्म के लोगों को जाने की इजाजत है। इसे टीपू सुल्तान के 11वें बेटे ने बनावाया था। इस मस्जिद को टीपू सुल्तान की याद में बनाया गया था। इस मस्जिद की खूबसूरती देख कोई भी इसकी तारीफ किए बिना नहीं रह सकता है।

जरुर पढ़ें:  गुजरात के स्कूलों में पढ़ाया जा रहा है -‘रोज़ा एक घातक बीमारी है, जिसमें उल्टी-दस्त आती हैं’

5. केरल की चेरामन जुमा मस्जिद

Cheraman Juma masjid in kerale

चेरामन जुमा मस्जिद केरल के कोडंगलूर के मेथला में है, जो बेहद ही खूबसूरत मस्जिद है। इस मस्जिद की खास बात ये है इसका अाकार और निर्माण। इसका निर्माण हिन्दूओं ने हिन्दू कला और वास्तु शिल्प के आधार पर किया था। इस मस्जिद के साथ ही इस्लाम धर्म के तीन महान अनुयायियों की कब्र भी हैं। ये मस्जिद भारत की पहली और विश्व की दूसरी ऐसी जगह है, जहां जुमा नमाज की शुरुआत हुई थी।

6. मुबंई की हाजी अली दरगाह

Haji Ali dergah in Mumbai

हाजी अली दरगाह मुंबई के वरली तट के पास एक छोटे से टापू पर बनी हुई है, जहां जाने के लिए एक सड़क निकाली गई है, जिसकी ऊंचाई काफी कम है और इसके दोनों और समुद्र है। जिसका नजारा बेहद ही खूबसूरत है। इस मस्जिद पर फिल्म फिजा की एक कव्वाली भी शूट की गई थी।