भारतीय रेलवे इन दिनों ट्रेन की स्पीड बढाने के लिए जुटा हुआ है. लेकिन अब वो शुभ घड़ी आ गई है, जिसके लिए रेलवे काफी समय से प्रयास कर रहा था. साथ ही पैसेंजर के लिए भी लिए भी खुशी की खबर है. बता दें कि  चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स यानि CLW ने भारतीय रेल को अब तक का सबसे तेज रफ्तार में चलने वाला इंजन सौंप दिया है.

ऐसा बताया जा रहा है कि ये इंजन 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक चल सकता है. साथ ही WAP 5 मोडिफाइड इंजन में ड्राइवर के कंफर्ट और सेफ्टी का भी ख्याल रखा गया है.

जरुर पढ़ें:  इंडियन रेलवे का यह कारनामा सुनकर ,आप भी कहोगे "वाह रेलवे वाह"

दरअसल पहला इंजन गाजियाबाद में भेजा गया है. इस इंजन को राजधानी एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस और शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों में मे इस्तेमाल करने की उम्मीद जताई जा रही हैं. और इस इंजन को भारत की रेल में लगने से ट्रेन का ट्रैवल टाइम घट जाएगा. यानि साफ है कि इससे लोग तेज रफ्तार में सफर कर सकेंगे,और समय भी बचेगा.

इस सिलसिले पर CLW के पब्लिक रिलेशन ऑफिसर मंतर सिंह ने कहा है कि इंजन को इस तरह तैयार किया गया है कि 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पर भी अधिक वाइब्रेशन न हो और यह स्टेबल भी रहे.

जरुर पढ़ें:  सबसे लम्बे नाखून वाले शख्स के अमेरिका में कटेंगे नाखून

खास बात तो ये भी है कि इस इंजन में बिजली की भी खपत कम होगी क्योंकि इसमें नेक्स्ट जेनरेशन रिजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है. और इस इंजन को बनाने में करीब 13 करोड़ रुपये का खर्च आया है.

इस इंजन में सीसीटीवी कैमरा और कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर भी लगाया गया जो ड्राइवर के बीच बातचीत को 90 दिनों के लिए रिकॉर्ड कर रखेगा.

Loading...