ट्रेन में सफर करने का असली मजा तभी आता है, जब सोने को मिलता है, कई लोग ऐसे ही होते है जो ट्रेन की खिड़की से बाहर देखने के बजाएं ट्रेन में बैठते ही खराट्टे मारकर सोने लग जाते है, लेकिन अब ट्रेन में सोने वालों के लिए एक बुरी खबर आ चुकी है क्योकि अब ऐसे लोगों को ट्रेन में सोने नहीं दिया जाएंगा। जी हां, सरकार के नए सर्कुलर में ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को सोने की इज्जात नहीं दी जाएगी। यानी अब आपको ट्रेन में सोना बंद करना होगा।

Demo Pic-Indian Railway

आपको बता दें, कि सरकार का नया नियम सिर्फ उन्ही ट्रेनों में लागू किया जाएगा, जिसमें पैसेंजरों को सोने की फैसेलिटी दी जाती है। नए नियम के मुताबिक ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को अपनी नींद में एक घंटे की कटौती करनी होगी, क्योकि पहले नियम के मुताबिक ट्रेन में आप रात के 9 बजे से लेकर सुबह 6 बजे तक सो सकते थे, लेकिन नए नियम के मुताबिक आपका एक घंटा काट लिया जाएगा, यानी अब आप सिर्फ रात के 10 बजे से सुबह 6 बजे तक ही सो पाएंगे और सिर्फ 8 घंटे की नींद ले पाएंगे।

जरुर पढ़ें:  अरविंद केजरीवाल की राजनीति पर बनी फिल्म, अगले महीने होगी रिलीज़
Demo Pic- passenger sleeping in train

बता दें, इस नए सर्कुलर में उन यात्रियों के लिए छूट दी गई है, जो लोग बिमार, दिव्यांग और गर्भवती महिलाएं यात्री है, उनके मामलों में सोने की छूट दी जाएगी। मंत्रालय के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने कहा कि हमें सोने के प्रबंध को लेकर कई यात्रियों की परेशानी के बारें में अधिकारियों से फीडबैक मिला था, हमारे पास पहले ही इसके लिए एक नियम है। हालांकि हम इसे स्पष्ट कर देना चाहते थे और सुनिश्चित करना चाहते थे कि इसका पालन हो, उन्होंने कहा कि ये प्रावधान शयन सुविधा वाले सभी आरक्षित कोचों में लागू होगी।

Anil saxena PRO of Indian Railway

वही दूसरी तरफ रेलवे अधिकारी ने कहा कि सोने के समय में एक घंटे की कटौती इसलिए की गई है क्योकि कुछ यात्री ट्रेन में चढ़ने के साथ ही अपनी सीट पर सो जाते थे, चाहे वो दिन हो या रात। इसकी वजह से मीडिल बर्थ और अपर बर्थ वाले यात्रियों को काफी परेशानी होती थी।

Loading...