आज की मॉर्डन दुनिया में लोग क्लब, मॉल और डिस्को जाने का शौक रखते हैं। पहले लोगों के लिए ये फन करने के साधन नहीं हुआ करते थे, तब गांव में मेले लगा करते थे। दूर-दूर से लोग मेला घूमने आया करते थे। ऐसा नहीं है, कि आज ये मेले लगने की परंपरा खत्म हो चुकी है। आज भी कुछ जगहें ऐसी हैं जहां लोगों में मेले का क्रेज बरकरार है। लेकिन इऩ दिनों झारखण्ड में लगा एक मेला खूब सुर्खियां बंटोर रहा है। वजह है इसमें हुई एक प्रतियोगिता, जिसमें कपल के लिए किसिंग का ऑप्शन रखा गया था वो भी ईनाम के साथ।

जरुर पढ़ें:  जल्द आएगा 100 रुपए का नया सिक्का, जारी करने की वजह है बेहद खास
Jharkhand village Kissing Contest

भारत जैसे देश में ओपन किसिंग, रोमांस, लव को गलत नज़रिए से देखा जाता है, जिसे सिर्फ बंद कमरे में ही करना पंसद किया जाता है। हालांकि विदेशों में ऐसा बिलकुल नहीं है उनके कल्चर में लव, रोमांस खुले में करना कोई बड़ी बात नहीं है। झारखण्ड के आदिवासियों ने इस नजरिए को बदलने के लिए एक कदम बढ़ाया है। जिसके लिए उन्होंने मेले में किसिंग कॉम्पीटिशन रखा था। इस प्रतियोगिता में जो कपल लंबे समय तक किस करेगा वही, विजेता होगा।

झारखण्ड के तालपहाड़ी गांव में इस तरह का मेला रखा गया था। इसमें सबसे लंबे समय तक किस करने वाले तीन कपल को प्राइज दिया गया। ये प्रतियोगिता लिट्टीपाडा के विधायक साइमन मरांडी ने अपने पैतृक गांव तालपहाड़ी में लगने वाले डुमरिया मेले मे कराई थी। मरांड़ी का कहना है, कि आदिवासी प्यार का इजहार करने में संकोची होते हैं, इसलिए प्यार और आधुनिकता को बढ़ावा देने के लिए ये प्रतियोगिता करवाई गई। इस प्रतियोगिता में कुल 18 कपल ने हिस्सा लिया और हजारों लोगों के सामने बिना शर्माए लिप-लॉक किया।

जरुर पढ़ें:  मेट्रो स्टेशन पर लड़की ने स्कर्ट उठाकर लड़कों को सिखाया सबक
Jharkhand village Kissing Contest

उनका कहना है कि अपने दिल की बात ना बता पाने की वजह से आदिवासियों में पिछले कुछ वर्षों से पति-पत्नी के बीच कई झगडे और तलाक के मामले सामने आ रहे थे। जिस वजह से उन्हें ये तरीका बेहद सही लगा। बता दें, आदिवासी पढ़े-लिखे ना होने की वजह से अपने परिवार को सामाजिक ढांचे में नहीं ढाल पाते हैं। इससे उनके व्यवहार और परिवारिक रिश्ते कमजोर हो जाते हैं। इस तरह की प्रतियोगिता उनके मन में सभी संकोचों को दूर करेगी। बता दें, इस तरह की प्रतियोगिता पहली बार झारखंड में की गई है।