हम भारत के हैं और भारत हमारा है. ये फक्र से कहा तो जरूर जाता है. लेकिन जब बात आती है इसके सम्मान की तो कदम पीछे क्यों हटने लगते हैं? राष्ट्रगान. जो पैगाम है भारत की विविधता में एकता का. वो राष्ट्रगान जो कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक को अपने में समेटे हुए है. वही राष्ट्रगान जिसने भारत की आजादी की लड़ाई को एक नया मोड़ दिया था. आज उसी राष्ट्रगान को एक बार सम्मान का मोहताज होना पड़ गया.

कश्मीर भारत का अभिन्न अंग. जहां के लोगों को अपना बनाने की पुरजोर कोशिशें कर रही है मोदी सरकार. लेकिन फिर भी मोदी सरकार अपने मकसद को पूरा करने में कामयाब होती नहीं दिख रही. इस बार मौका था कश्मीर में बीजेपी युवा मोर्चा की मेगा ज्वाइनिंग का. श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेन्शन सेंटर में बीजेपी युवा मोर्चा की एक मेगा जॉइनिंग मुहिम थी जिसमें कई कश्मीरी युवा बीजेपी में शामिल हुए. इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से शामिल होने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव यहां पहुंचे थे. उसके अलावा कई पंचायती सदस्यों ने भी बीजेपी का हाथ थामा.

जरुर पढ़ें:  ताप्ती-गंगा एक्सप्रेस ट्रेन के 10 डिब्बे हुए बेपटरी, हादसे में 4 लोग घायल..

ये कार्यक्रम शुरु होता है राष्ट्रगान के साथ. ये हम सब जानते हैं कि राष्ट्रगान के समय बैठना राष्ट्रगान का ही नहीं बल्कि पूरे देश का अपमान होता है. इस कार्यक्रम में भी कुछ ऐसा ही हुआ. राष्ट्रगान के समय जहां शुरुआती पंक्तियों में बैठे भाजपा नेता और कार्यकर्ता खड़े हुए तो वहीं पीछे के अधिकतर कार्यकर्ता बैठे दिखाई दिये. और अब इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

सामने राष्ट्रगान चल रहा है और कश्मीर के नौजवान आराम से बैठे नजर आ रहे हैं. ये कोई एक या दो लोगो नहीं थे जिन्होंने राष्ट्रगान का लिहाज नहीं किया बल्कि पीछे बैठे ज्यादातर युवा सीट पर ही बैठे रहे. इस दौरान कुछ लोग सीट पर बैठे हस रहे थे तो कुछ लोग अपना मुंह छुपा रहे थे. इसमें कार्यक्रम में कश्मीर की महिलाएं भी शामिल थी. दो चार महिलाओं ने खड़े होकर देश के प्रति सम्मान जरूर दिखाया लेकिन ज्यादातर महिलाएं भी सीट पर बैठी रही और दूसरी तरफ राष्ट्रगान चलता रहा.

जरुर पढ़ें:  कांग्रेस पर फूटा अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर का गुस्सा, कहा- गोपनीय लेटर को क्यों किया लीक..

ये कोई पहला मामला नहीं है जब भारत के सवा सौ करोड़ लोगों के सम्मान के प्रतीक का अपमान हुआ हो. इससे पहले पिछले साल कश्मीर की शेर- ए- कश्मीर यूनीवर्सिटी का भी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. जिसमें कुछ युवा राष्ट्रगान के दौरान बैठे ही रहे. तो वहीं इस पर बीजेपी ने अपने कार्यकर्ताओं का बचाव करते हुए इसे स्टेज सेक्रेटरी की गलती बताया है. लेकिन अब कश्मीर के लोगों के साथ साथ ये सावल बीजेपी पर उठना भी लाजमी है कि जो लोग भारत के राष्ट्रगान का सम्मान में खड़े नहीं हो सकते उनसे ये उम्मीद कैसे की जा सकती है कि वो देश हित के लिए काम करेंगें.

जरुर पढ़ें:  विश्व योग दिवस पर बाबा रामदेव का योग और 100 अनोखे वर्ल्ड रिकॉर्ड

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here