अब तक रेड लाइट एरिया में लडकियों की बोली लगने की बातें आपने सुनी होगी। इन लड़कियों की बोली लगाने वाले कोई और नहीं, बल्कि मर्द हुआ करते हैं। वहीं मर्द जो लड़की को वेश्या कहकर उसकी इज्जत का मज़ाक उड़ाते हैं। लेकिन अब आप ये बात सुनकर चौंक जाएंगे, कि औरतों को इन अलग-अलग नाम से पुकारने वाले मर्द खुद इस धंधे में उतर गए हैं। जी हां, अब रात 10 बजे के बाद औरतों के साथ-साथ मर्दों के शरीर की भी बोली लगने लगी है।

Demo pic- Gigolo Merket

भारत जैसे देश में जहां संस्कृति, रिती-रिवाजों का आदर किया जाता है, जिसे पुरुषप्रधान देश बताया जाता है। उसी देश में मर्दों के जिस्म का धंधा दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। इस बात से भले ही आप वाकिफ ना हो, लेकिन ये बात बिलुकल सच है। इस वेश्यावृत्ति काम में अब पुरुष भी शामिल होते जा रहे हैं। जिनकी संख्या अब भारत के राज्यों में बड़ी तादात में देखने को मिल रही है। दिल्ली, चंड़ीगढ़, मुंबई जैसे बड़े शहरों में ये गोरखधंधा तेज़ी से फैल रहा है। जिसमें कामकाजी पुरुषों से ज्यादा युवा फंसते चले जा रहे हैं। जिस तरह एक औरत मजबूरी में वेश्या बनती हैं या अपने शौक से बनती हैं, ठीक उसी तरह देश के युवा भी कुछ पैसों के लालच में इस धंधे को अपना रहे हैं या अपने शौक से इसे अपना पेशा बना रहे हैं। इन सब लड़कों में ज्यादातर कॉलेज के युवा शामिल हैं, जिनकी संख्या बढ़ती जा रही है।

जरुर पढ़ें:  फ्लाइट में सेल्फी लेकर फेसबुक पर डालना पड़ा महंगा, पहुंच गया जेल
Demo Pic- Gigolo

अमीर घर की औरते बनती हैं कस्टमर

आपने शायद ही ‘जिगोलो’ शब्द को सुना हो, जिसका मतलब मेल प्रोस्टिट्यूट होता है, जो विदेशों में ज्यादा होते हैं। भारत में इस धंधे में कम ही पुरुष पड़ते हैं। लेकिन हाल की रिपोर्ट में अब इस बात का ताजा सबूत सामने आया है, कि मेल प्रोस्टीट्यूट की संख्या बढ़ रही है। जिनकी बोली लगाने वाली अमीर घर की औरते होती हैं। जो 3000-5000 रुपए तक की बोली लगाती हैं। बरोजगारी भारत की पहले से ही बड़ी समस्या रही है, इसी के चलते बड़े शहरों के लड़के इस काले धंधे में फंसते जा रहे हैं। बेरोजगारी में इस काम को अपना पेशा बना पैसों की भारी कमाई करते दिख रहे हैं। जो कि उनके भविष्य को अंधेरे में धकेल रहा है। वेश्यावृति का धंधा पहले ही भारत में काफी बढ़ा है, वही अब देश के पढ़ने वाले युवा भी इस अंधेरी गली में खोते जा रहे हैं।