एक पहुंचे हुए संत ने संभोग को समाधि का एक ज़रिया बताया था। लेकिन ये इसी सेक्स का आज विकृत रूप भी हमारे सामने आ रहा है। बलात्कार की जो घटनाएँ होती है और उसके बाद, लड़कियों की योनी के साथ जिस तरह की घिनौनी हरकत की जाती है, ये निर्भया कांड के बाद सबने देखा। सेक्स के दौरान पुरूष की मानसिकता क्या होती है? वो किस तरह का बर्ताव करता है, इससे जुड़ी एक चौकाने वाली बात सामने आई है। विदेशों में सेक्स के लिए टॉय और डॉल्स का खूब प्रचलन है, इतना की इनकी दुकानों के साथ ही इन्हें रिपेयर करने वाले प्रोफेशनल लोग तक वहां मौजूद हैं। ऐसे एक सेक्स डॉल रिपयेर करने वाले ने जो अपने अनुभव शेयर किए हैं, वो काफी चौंकाने वाले हैं।

सेक्स डॉल रिपेयर करते स्लेड फियरो

सेक्स को लेकर इंसान तरह की तरह की फैंटेसी में जीता है। वो किताबों और पॉर्न फिल्में देखकर सेक्स को वैसे ही एंजॉय करना चाहता हैं। कई लोग तो इसके लिए सेक्स डॉल का तक सहारा लेते हैं। लेकिन इस खिलौने के साथ वो कैसे बर्बर व्यवहार करते हैं इसका खुलासा, इन डॉल्स को रिपेयर करने वाले ने किया है। पुरुषों के लिए बाजार में लाई गई सेक्स डॉल्स से सेक्स करना गलत बात नहीं है, लेकिन इन सेक्स डॉल के साथ पुरुष ज़रा भी तरस नहीं खाते हैं। इसके पीछे वो मानसिकता है, क्योंकि ये बेजान पुतलों को न तो दर्द होता है, ना वो शोर माचाते हैं और ना ही उनका खून निकलता है इसलिए बेदर्द इंसान को भी उनपर तरस नहीं आता।

जरुर पढ़ें:  बड़ा खुलासा : मोबाइलों की चोरी करके इस जगह धड़ल्ले से बेचा जाता है!
स्लेड फियरो सेक्स डॉल मैकेनिक

इंसान सेक्स के दौरान कितना पागल, वहशी और बेशर्म हो जाता है इसके बारे में सेक्स डॉल रिपियेर करने वाले स्लेड फियरो ने बताया है। एक महिला को लेकर पुरुष किस हद तक गिर सकता है, इसका नमूना हम कई बार बलात्कार की घटनाओं के बाद देख चुके हैं। लेकिन विदेशों में पुरुषों के मानसिकता तब झलकती है, जब मालिक सेक्स डॉल को लेकर उनके पास आता है और वो उसका हाल देखकर हैरान रह जाते हैं। स्लेड फियरो ने सेक्स डॉल रिपेयरिंग के दौरान जो अनुभव हासिल किए वो काफी चौंकाने वाले और खतरनाक हैं। फियरों ने जो अनुभव शेयर किए हैं उन्हें सुनकर आपको इन डॉल्स पर तरह आएगा और उनके मालिकों से घिन आने लगेगी। 

सेक्स डॉल के साथ स्लेड फियरोजी हां स्लेड बताते हैं, कि करीब 10 साल उन्होंने सेक्स डॉल को रिपेयर करने काम किया और 100 से भी ज्यादा सेक्स डॉल्स को ठीक भी किया। लेकिन हैरानी की बात ये है, कि उनके पास आई हुई डॉल्स इसलिए खराब नहीं हुई थी, कि उनका बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया गया था, बल्कि उनकी हालत इसलिए खराब हुई, कि उनका गलत तरीके से इस्तेमाल किया गया था। स्लेड के पास कुछ डॉल्स इतनी बुरी हालत में आती थी, कि उन्हें देखकर स्लेड को उनके मालिकों पर बेहद गुस्सा आता था और इन डॉल्स पर तरस।  ऐसी ही डॉल्स की हालत देखकर उन्होंने गुस्से में कई लोगों को तो उसे रिपेयर करने से मना तक कर दिया था। और उनसे उनकी शॉप में दोबारा ना आने का अनुरोध भी करते थे। उनके मुताबिक ये लोग डॉल्स के साथ यौन हिंसा करते थे और इसीलिए वो बुरी तरह बर्बाद हो जाती थी।

जरुर पढ़ें:  31 साल की टीचर का 17 साल के स्टूडेंट पर आया दिल और फिर....
सेक्स डॉल को डिलिवर करते स्लेड

‘द सन’ की खबर के मुताबिक स्लेड ने इंटरव्यू में बताया, कि “मेरे पास एक व्यक्ति आया था जो यौन हिंसक था, जिसने अपनी डॉल का बुरा हाल किया हुआ था। उसके साथ इतनी बुरी तरह से संबंध बनाए गए थे, कि डॉल का बायां पैर बुरी तरह से टूटा हुआ था। वो मेरे पास दो बार उस डॉल को लेकर आया, दूसरी बार मैंने उसे मना कर दिया।” स्लेड के मुताबिक ” वो शख्स सेक्स और महिलाओं को लेकर पागल था। इतना ही नहीं महिलाओं को लेकर उसकी सोच भी बेहद ही घिनौनी थी, जो उसकी बातों से साफ झलक रही थी”

स्लेड फियरो

महिलाओं के बारे में जो बातें वो कर रहा था उसके बाद स्लेड को उसपर बेदह गुस्सा आया था। स्लेड एक सेक्स डॉल रिपेयर मैकेनिक हैं और वे बताते हैं कि “अगर कोई व्यक्ति अपनी डॉल का ठीक ढंग से इस्तेमाल और उसकी देखभाल करे, तो वो काफी लंबे समय तक चलती है और साथ भी देती हैं” स्लेड बताते हैं, कि कुछ लोग डॉल्स का जरा भी ख्याल नहीं रखते थे, उनके साथ इतनी गंदी तरह सेक्स किया होता था, कि डॉल्स को ठीक करना तक मुश्किल हो जाता था। ये लोग डॉल्स से इस तरह पेश आया करते थे, जैसे उसकी कोई इज्जत ही ना हो, वो कुछ ना हो, बस सेक्स के लिए ही हो।

जरुर पढ़ें:  गिरगिट की तरह कुत्ते भी बदलने लगे हैं रंग, चौंकाने वाली है वजह
बुरी तरह जख्मी डॉल को रिपेयर करते फियरो

स्लेड सिर्फ सेक्स डॉल्स को ठीक ही किया करते थे, लेकिन कुछ लोग उनके पास इस तरह के ऑफर लेकर आते थे, कि वे उन्हें सुनकर हैरान होल जाते थे। लोग चाहते थे, कि सेक्स डॉल में दोनों सेक्स आप्शन शामिल हो, वो ब्रेस्ट भी चाहते थे और पेनिस भी। स्लेड इस बात ये बेहद हैरान हो जाते थे, जब लोग उनसे ऐसा करने के लिए कहते थे। स्लेड वैसे तो अपने काम से अलविदा ले चुके हैं, लेकिन बताते हैं, कि उन्होंने मानव शरीर के बारे में जानने के लिए अपने एक पैथोलॉजिस्ट दोस्त के साथ एक मुर्दाघर में काम किया। और वहां से सीखकर जब वो अपनी डॉल की सर्जरी की तस्वीरें अपनी वेबसाइट पर अपलोड करते तो वो एकदम असली लगती थीं। इससे बाद स्लेड को पूरे अमेरिका से काम मिलने लगा था, लेकिन उन्होंने इस घिनौने काम को छोड़ने का फैसला किया लेकिन उन्होंने इस दौरान जो अनुभव हासिल किए वो उनके लिए किसी घिनौनी घटना से कम नहीं है।

Loading...