गूगल क्या कर सकता है, इसकी कई मिसालें आपको मिल जाएगी। गूगल आपको खाने के लिए, रहने के लिए, घूमने के लिए बढ़िया जगहें बता सकता हैं, रास्ता बता सकता है। लेकिन इस बार गूगल ने एक ऐसा कारनामा कर दिखाया है कि आप कहेंगे, वाह! गूगल तो खोए हुए इंसान का पता भी बता सकता है।

मामला उत्तर प्रदेश के फैजाबाद का है, जहां पुलिस ने गूगल की मदद से उस लड़की के मां-बाप और घर को ढूंढ निकाला है, जो गुम हो गई थी। दरअसल मानसिक रुप से बीमार एक लड़की अपनी मां के साथ सब्जी लेने मार्केट गई थी। तभी वो अचानक वहां से कहीं ओर निकल गई। मानसिक रूप से कमजोर ये लड़की उत्तर प्रदेश की फैजाबाद पुलिस को मिली। पुलिस ने युवती से पूछताछ की तो, युवती कुछ भी बोल नहीं पा रही थी। बस वो दो चार टेढ़े मेढ़े अक्षर लिखकर दिखाती थी।

जरुर पढ़ें:  Sanjay Datt ने इनसे हाथ जोड़कर मांगी माफ़ी, कहा-अब दूंगा जादू की झप्पी
सिम्बोलिक फोटो

पुलिस के लिए लड़की के घर का पता लगाना बड़ा मुश्किल हो गया था। लड़की के हाथ पर ‘सुखमती’ गुदा होने के अलावा पुलिस के पास कोई सुराग नहीं था लेकिन फैजाबाद की महिला थाना इंचार्ज प्रिंयका पांडेय ने युवती के लिखे उन टेढ़े-मेढ़े शब्दों से लड़की के घर का पता खोज निकाला। दरअसल इस लड़की ने कागज़ पर जो दो अक्षर महासमुंद और बसना लिखा था, उसे प्रियंका ने गूगल पर टाइप किया। इऩ अक्षरों को टाइप करने पर पता चला कि ये छत्तीसगढ़ का एक जिला और बसना उसका कस्बा है।

महिला थानाअध्यक्ष ने तुरंत बसना पुलिस थाने से सपंर्क किया तो, पता चल गया कि वहां सुखमती नाम की युवती की गुमशुदा होने की रिपोर्ट दर्ज है। बसना थाने की पुलिस ने जरा भी देर नहीं लगाई और सुखमती के परिवार वालो को 800 किलोमीटर दूर फैजाबाद लेकर पहुंच गए। सुखमती ने अपनी मां को देखते ही दौड़कर गले लगा लिया। युवती की मां का कहना है, कि जब वो सब्जी लेने गई थी, तब सुमखती अचानक गायब हो गई थी। ये पहले भी गायब हुई है लेकिन ना जाने इस बार इतनी दूर कैसे पंहुच गई।

Loading...