भारत में सेक्स एक प्राइवेट विषय है, और इसपर खुलकर बात करना संस्कारों के खिलाफ माना जाता है। एक बार पुरुष भले ही इन विषयों पर खुलकर बात कर सकते हैं, लेकिन महिलाओं के लिए सेक्स जैसे टॉपिक पर खुलेआम बात करना जैसे गुनाह है। और इसपर मुस्लिम समाज की महिलाओं की बात करें तो उनपर तो और ज्यादा सख्त पाबंदियां लगी हुई है। लेकिन पहली बार एक मुस्लिम महिला ने सेक्स के बारे में खुलकर बात की है और न सिर्फ बात कि, बल्कि दूसरी मुस्लिम महिलाओं के लिए भी एक सेक्स गाइड लेकर आई हैं।   

‘द मुस्लिमा सेक्स मैन्युअल: अ हलाल गाइड टू माइंड ब्लोइंग सेक्स’ यही वो किताब है, जो मुस्लिम महिलाओं को ये बताएगी कि शरिया का पालन करते हुए बेहतरीन सेक्स का आनंद आप कैसे ले सकती हैं। इस किताब को एक मुस्लिम लेखिका ने मुस्लिम महिलाओं के लिए लिखा है। उसका दावा है, कि ये एक ‘हलाल सेक्स’ गाइड है। इस किताब को पिछले हफ्ते ही प्रकाशित किया गया है। किताब में शादीशुदा मुस्लिम महिलाओं के लिए उनकी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए कई टिप्स दिए गए हैं।

जरुर पढ़ें:  शर्मनाक: स्टूडेंट्स के साथ घिनौनी हरकत कर सोशल मीडिया पर डाला, इस शिक्षक ने करी सारी हदें पार

इस किताब को लिखने वाली महिला भले ही मुस्लिम हो, लेकिन उसने अपनी पहचान सार्वजनिक नहीं की है। किताब पर लेखिका के नाम की जगह ‘उम मुलाधत’ नाम का जिक्र है। लेखिका ने किताब के बारे में अपनी वेबसाइट पर लिखा है, कि मुस्लिम महिलाओं में सेक्स के बारे में कोई खास जानकारी नहीं होती है, इसलिए उनका वैवाहिक जीवन निरस हो जाता है और वो अपनी मैरिड लाइफ को इंज्वॉय नहीं पाती। लेखिका ने अपनी वेबसाइट पर इस बात का भी जिक्र किया है, कि उसने ये किताब अपनी दोस्त के कहने पर लिखी है, जिसमें उन्होंने अपने सेक्स अनुभवों का जिक्र किया है। इस किताब में लेखिका ने सेक्स को लेकर बेहद बोल्ड माने जानी वाली चीजों का भी जिक्र किया है। किताब बाज़ार में आते ही पुरुष लेखिका से संपर्क कर रहे हैं और वे ये भी पूछ रहे हैं कि, अपनी पत्नियों को कैसे संतुष्ट करें।

जरुर पढ़ें:  कभी यमराज को साक्षात देखा है ? नहीं, तो ये वीडियो देख लो

ये किताब ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट अमेजन पर अवेलेबल है। लेखिका इस किताब पर मिल रहे पॉजिटीव रिस्पॉंन्स की वजह से भले ही खुश हो लेकिन मुस्लिम समाज का एक तबका इस किताब का विरोध भी कर रहा है। ये लोग इसे मुस्लिम समाज का अपमान बताते हुए इसे इस्लाम के खिलाफ बता रहे हैं।

Loading...