प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भी किसी देश की यात्रा पर जाते हैं, तो अपने समकक्ष और उनके परिवार वालों के लिए कुछ ना कुछ भेंट ज़रुर लेकर जाते है। पीएम मोदी हमेशा ही भारत से जुडे ऐतिहासिक और ऐसे यूनिक गिफ्ट देते हैं, जो चर्चाओं में आ ही जाते हैं। इसलिए उनकी हर यात्रा के बाद लोग ये जानना चाहते हैं कि, पीएम ने इस बार क्या गिफ्ट दिया।

पीएम मोदी अपने एतिहासिक इज़रायल के दौरे पर हैं। वहां के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने सारे प्रोटोकॉल को धव्स्त करते हुए पीएम मोदी का शानदार स्वागत किया। इस आवभगत के बदले पीएम मोदी ने भी दिल खोलकर इज़रायल और नेतन्याहू की तारीफ की और साथ में एक ऐसा तोहफा भी दिया, जिसे इज़रायली पीएम पाकर बेहद खुश ज़रूर हुए होंगे। पीएम मोदी ने बेंजामिन नेतन्याहू को एक बेहद ही यूनिक तोहफा दिया हैं। आपको बता दें, कि पीएम ने केरल से लाई हुए दो ऐतिहासिक प्लेट नेतन्याहू को भेंट की है। जिसके बारे में पीएमओ की ओर से ट्वीट कर जानकारी दी गई।

तांबे की प्लेटों का दूसरा सेट भारत के साथ यूहदी व्यापार के इतिहास का सबसे प्रारभिंक दस्तावेज माना जाताा है

केरल के तांबों का इतिहास

केरल की तांबे की ये दो प्लेटें भारत में कोचिन के यूहिदियों की निशानी है। ऐसा माना जाता है, कि इन्हें नौवी-दसवी शताब्दी में अकिंत किया गया था। इसमें हिंदू राजा चेरामन पेरूमल की ओर से यहूदी नेता जोसेफ रब्बन को अनुवांशिक आधार पर दिए गए विशेषाधिकारों का जिक्र है। यहूदियों के पारंपरिक दस्तावेजों के मुताबिक जोसेफ रब्बन को बाद में शिंगली का राजकुमार बना दिया था। शिंगली एक अहम स्थान माना जाता है, जो कोदन्गुल्लूर के समकक्ष है। कोदन्गुल्लूर वह जगह है, जहां यहूदी लोग सदियों तक धार्मिक एवं सांस्कृतिक स्वायत्तता का आनंद लेते रहे हैं। इसके बाद वे कोचीन और मालाबार की दूसरी जगहों पर स्थानांतरित हो गए। इन प्लेटों की कॉपियां कोच्चि स्थित परदेसी सिनगॉग केी मदद से हासिल की गई थी।

जरुर पढ़ें:  पैसेंजर्स के प्राइवेट पार्ट्स को टच करके की जाती है चेकिंग? वायरल तस्वीरों का सच

इन प्लेटों पर हिन्दू शासक की ओर से चर्च को दी गई जमीन और कर संबंधी विशेषाधिकारों के बारे में बताती हैं। इसके अलावा इसपर कोल्लम से पश्चिमी एशिया के साथ होने वाले व्यापार और भारतीय व्यापार संघों का जिक्र भी है।

Loading...