आमिर खान की फिल्म ‘थ्री इडियट’ का शुरुआती सीन तो आपको याद होगा ही, जिसमें फरहान यानी एक्टर आर माधवन फ्लाइट से बिमारी का बहाना कर बीच में ही उतर जाता है, इसकी वजह से फ्लाइट देरी से रवाना होती है और पूरे एयरपोर्ट पर हंगामा मच जाता है। ये सीन फिल्म का था जो बेहद मजाकिया था। इस फिल्म से कई लोग इंस्पायर हुए लेकिन इस सीन से कोई इतना इंस्पायर हो जाएगा, ये किसी ने नहीं सोचा होगा। दरअसल नेवी के एक अफसर ने अपनी बीवी से जल्दी मिलने के लिए फ्लाइट में बम होने की अफवाह फैला दी, फिर क्या थापूरी फ्लाइट में हंगामा मचा गया।

‘3 idiot movie’ flight scene

दरअसल दिल्ली से जयपुर जा रही एयर इंडिया की फ्लाईट में उस वक्त हंगामा मच गया, जब फ्लाइट में बैठे नेवी के लेफ्टिनेंट कमांडर ने बम की अफवाह फैला दी। चौंकाने वाली बात ये है, कि बम की अफवाह कमांडर ने इसलिए फैलाई क्योंकि साहब को बीवी से मिलने जल्दी पहुंचना था। आपको बता दें, कि रविवार को दिल्ली से जयपुर जाने वाली एयर इंडिया की फ्लाइट अपने तय समय के मुताबिक ठीक 2 बजकर 10 मिनट पर जोधपुर पंहुच गई थी। फ्लाइट में सवार नेवी के लेफ्टिनेट कमांडर भानु प्रताप सिंह गोदरा ने यहीं पर फ्लाइट से उतरना चाहा, लेकिन उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिली, क्योंकि उनकी टिकट जयपुर तक थी। उनसे जब बीच में उतरने का कारण पूछा, तो उन्होंने कह दिया, कि उनकी बैग में बम रखा है, इस वजह से वो यही उतरना चाहते हैं।

जरुर पढ़ें:  शादी में 2 इंच छोटा मिला था लहंगा, दूल्हन को 8 साल बाद मिला इंसाफ
Air india flight

अफवाह की वजह से फ्लाइट हुई लेट

कमांडर की इस अफवाह पर सभी सुरक्षाकर्मी सचेत हो गए और डीसीपी समेत पुलिस के अधिकारी वहां पुहंच गए। इतना ही नहीं बम स्कॉड को भी बुलाया गया। बैग में बम होने की अफवाह पर सभी पैसेंजरों के बैग और समान की डॉग और मेटल डिटेक्टर की मदद से जांच कराई गई। लेकिन 3 घंटे की तलाशी के बाद जब बम नहीं मिला तो सभी की जान में जान आई और उसके बाद फ्लाइट 4 घंटे देरी से रवाना हुई। भानू प्रताप को पुलिस हिरासत में ले लिया गया और पूछताछ में पता चला की ये अफवाह घर जल्दी पहुंचने के लिए उडाई गई थी।

जरुर पढ़ें:  चाची पर थी भतीजे की गंदी नज़र, आगे जो हुआ उसने बर्बाद कर दी चाचा की जिंदगी
‘भानू प्रताप सिंह गोदार नेवी’ लेफ्टिनेट कमांडर

इसलिए उड़ाई अफवाह

इस पूरे मामले में खास बात ये है, कि भानू प्रताप खुद नेवी में लेफ्टिनेंट कमांडर स्तर पर पायलट है। दरअसल भानू प्रताप गोवा में अपनी ड्यूटी के लिए गए हुए थे, इस दौरान उन्हें खबर मिली, कि उनकी प्रग्नेंट पत्नी की डीलिवरी डेट 2 सितम्बर की है। इसीलिए वो अपनी पत्नी से मिलने घर जा रहे थे। भानू प्रताप पहले विशाखापट्टनम से दिल्ली आए उसके बाद उन्होंने दिल्ली से जयपुर की फ्लाइट पकड़ी। लेकिन भानू प्रताप को ये नहीं पता था, कि ये फ्लाइट जोधपुर से होते हुए जयपुर जाएगी। इसलिए जब फ्लाइट जोधपुर पहुंची तो उन्हें लगा, कि उनका घर यहां से पास पड़ेगा और इस दौरान वो बीच में अपने बीमार नाना से भी मिल लेंगे। इसलिए उन्होंने जोधपुर उतरने की इच्छा जताई। लेकिन कर्मचारियों के मना करने पर भानू प्रताप की कर्मचारियों से बहस हो गई, जिस वजह से उन्होंने अफवाह फैलाई और मामला गंभीर हो गया।

Loading...