प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाय बेचने के किस्से तो आपने खूब सुने होंगे। इसी चाय पर चर्चा करके उन्होंने लोकसभा चुनाव में खूब चर्चा बंटोरी और चुनाव जीतकर, जब वे देश के प्रधानमंत्री बने, तो कहा गया कि चायवाला भी पीएम बन सकता है।

वैसे ये सवाल हमेशा ही बना रहा, कि क्या वाकई पीएम मोदी ने चाय बेची भी थी या नहीं , लेकिन शायद अब ये सवाल पूछने वालों के मुंह पर ताला पड़ जाए। क्योंकि भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय ने इस सवाल का जवाब दे दिया है। और उस दुकान का पता भी बता दिया है, जहां पीएम मोदी बचपन में चाय बेचा करते थे।

जरुर पढ़ें:  शराब के नशे में लड़के-लड़कियों ने जो किया, उसे देखकर आपको घिन आ जाएगी
इस दुकान की चाय बेचा करते थे, पीएम मोदी

तस्वीर में दिख रही ये वही दुकान है, जहां पीएम मोदी बचपन में चाय बेचा करते थे। गुजरात के वडनगर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर बनी ये दुकान आने वाले दिनों में पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र होगी। क्योंकि इस दुकान के साथ ही इस स्टेशन को भी केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय पर्यटन स्थल घोषित करने जा रहा है।

आपको बता दें, कि बचपन में अपने पिता के साथ पीएम मोदी वडनगर स्टेशन के इसी प्लेटफॉर्म पर चाय बेचा करते थे। इसको लेकर हमेशा से सवाल उठते रहे हैं, लेकिन अब शायद इस दुकान के पर्यटन स्थल घोषित होने के बाद सवाल पूछने वाले यहां घूमकर आएंतो उनके सवालों के जवाब उन्हें मिल जाए। वैसे इसके पीछे संस्कृति मंत्रालय की मंशा भी यही दिख रही है, क्योंकि पीएम मोदी के इस पेशे पर विपक्ष के साथ ही विरोधी भी हमेशा तंज कसते रहे हैं।

जरुर पढ़ें:  राहुल गांधी के बाद कांग्रेस के एक और नेता ने किसानों को आलू से अमीर बनाने का बताया तरीका!
वडनगर रेलवे स्टेशन

संस्कृति एवं पर्यटन मंत्रालय की योजना के मुताबिक इस दुकान को आधुनिक रंगों के ज़रिए सजाया जाएगा, लेकिन इसके मूल रूप के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं की जाएगी। साथ ही इस दुकान के साथ पूरे स्टेशन का भी सौंदर्यीकरण होगा। जिसपर पूरे 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। जिनमें से 80 करोड़ रुपए का फंड जारी भी किया जा चुका है।

आपको बता दें, कि हाल ही में संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री महेश शर्मा के साथ ही आर्कियोलॉजिकल सर्वे विभाग और मंत्रालय के एक दल ने इस स्थल का दौरा भी किया था।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here