देश भर के कई राज्यों को बीते मंगलवार को भारी बारिश और आंधी तूफान का सामना करना पड़ा. तूफान का कहर इतना भारी था कि कई लोगों को अपनी जान भी गवानी पड़ी, जब्कि कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, बिहार और नई दिल्ली के कई इलाकों में आज भी भारी बारिश और आंधी तूफान से लोगों को सामना करना पड़ सकता है. बारिश की वजह से अब तक इन राज्यों में 35 लोगों की मौत हो चुकी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान में मारे गए लोगों और जनमाल के नुकसान पर गहरा दुख जताया है और गुजरात के लोगों के लिए मुआवजे की घोषणा की है. इसी बात पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ऐतराज जताया है. कमलनाथ ने नाराजगी जाहिर करते हुए ट्वीट कर कहा कि आप देश के पीएम हैं न कि केवल गुजरात के.


कमलनाथ ने पीएम मोदी पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि एमपी में भी बेमौसम बारिश व तूफ़ान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है. लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ़ गुजरात तक सीमित?  भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहां भी बस्ते है.


बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर कहा, ”पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात के विभिन्न इलाकों में बारिश और तूफान से जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री आपदा राहत कोष से 2-2 लाख रुपये मुआवजे को मंजूरी दी है.” प्रधानमंत्री मोदी ने घायलों को 50-50 हजार रुपये मुआवजा देने का एलान किया है.

जरुर पढ़ें:  राफेल के बाद अब एक और घोटाले ने बढ़ी दी मोदी सरकार की मुश्किलें!

मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, बिहार और नई दिल्ली में तेज हवाएं, बारिश और बिजली गिरने के कारण 35 लोगों की मौत हुई है. मध्य प्रदेश में 15, राजस्थान-गुजरात में 9-9, जबकि दिल्ली और बिहार में 1-1 व्यक्ति की जान गई है.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here