राम मंदिर का निर्माण उत्तर प्रदेश की सियासत के लिए के एक बड़ा मुद्दा रहा है. और सबसे ज्यादा ये मुद्दा तब गुजता है. जब कोई भी चुनाव नज़दीक आता है. लोकसभा चुनाव 2019 के आहट के साथ राम मंदिर निर्माण को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं.

राम मंदिर निर्माण के लिए अयोध्या में पत्थरों के आने का काम शुरू हो गया है. इतना ही नहीं जितने पत्थरों की आवश्यकता है, उसे राजस्थान से ट्रक में लादकर लाया जा रहा है.

दिलचस्प बात ये है कि राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक पहली मंजिल के पत्थर तराशे जा चुके हैं. इसके बाद जिन पत्थरों को तराशने और डिजाइन करने का काम चल रहा है, वो राम मंदिर के दूसरी मंजिल के लिए है.

जरुर पढ़ें:  अमित शाह का एलान- 2019 लोकसभा चुनाव के पहले बनेगा राम मंदिर

राम मंदिर के लिए पत्थर इस तरह तराशे और डिजाइन किए गए हैं, जैसे पुरातन शैली में बिना सीमेंट के खांचे के माध्यम से जोड़े जाते थे. ऐसे में जब राम मंदिर बनाना होगा तो इसमें केवल पत्थर को उठा कर ले जाने में ही मेहनत करनी होगी.

VHP के प्रवक्ता शरद शर्मा ने बताया कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो यह सारा हिंदू समाज और साधु संत चाहते हैं साधु संतों ने दिल्ली में हुई उच्च अधिकार समिति की बैठक में इसका शंखनाद भी किया था.

साथ ही उन्होंने कहा कि संसद में कानून लाकर राम मंदिर बनाया जाए और हम सभी भी प्रयासरत है. इसके बाद से ही हम लगातार कि कानून बनाकर राम मंदिर का निर्माण की मांग कर रहे हैं.

जरुर पढ़ें:  सीएम योगी ने राम मंदिर को लेकर किया बड़ा एलान, कहा- दीवाली से पहले मिलेगी खुशखबरी!

शर्मा ने कहा कि राम मंदिर के लिए 70000 घन फुट पत्थर की और जरूरत है. हमारे संगठन के शीर्ष पदाधिकारी राजस्थान के खदान मालिकों के संपर्क में है. ऐसे में जो भी पत्थर की जरूरत होगी उसे धीरे धीरे लाया जाएगा. इसके अलावा राम मंदिर निर्माण के लिए जो नियमित प्रक्रिया है वह चलती रहेगी.

शर्मा ने कहा कि जहां तक राम मंदिर निर्माण की सामग्री की बात है तो  पत्थर तराशे जा रहे हैं. इसके अलावा राजस्थान से पत्थर मंगवाए जा रहे हैं. हमारे संगठन लोग उनके संपर्क में है. उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार में पत्थर लाने पर रोक लग गई थी, लेकिन सरकार जाने के बाद से पत्थर आने शुरू हो गए थे. हालांकि बारिश के कारण पत्थर नहीं आ पा रहे थे.

जरुर पढ़ें:  सुप्रीम कोर्ट में एक बार फिर टली राम मंदिर पर सुनवाई!
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here