एक ही चीज है, जो इंसान के बस में नहीं है, अगर वो आ जाए, तो इंसान सौ काम छोड़कर पहले उसे निपटाता है, फिर बाकी काम करने लगता है। काम कितनी भी ज़रूरी हो, उसे टाला जा सकता है, लेकिन इसे नहीं। जीहां बात पॉटी की ही हो रही है। जब प्रेशर बनता है, तो दिमाग काम करना बंद कर देता है और सारा फोकस उसी पर केंद्रित हो जाता है। आजकल वैसे भी टॉयलेट खूब चर्चा में है। इसपर एक फिल्म भी बन गई और सरकार लोगों को घर-घर में इसे बनाने के लिए प्रेरित कर रही है। लेकिन ये टॉयलेट क्या इतना काम का हो सकता है, कि ये एक चोर को पकड़वा दे। सुनने में अजीब लग रहा है, लेकिन एक चोर को पकड़ने में एक टॉयलेट ने मदद की और पुलिस ने टॉयलेट की मदद से चोर को पकड़ लिया।

जरुर पढ़ें:  जिन्हें राष्ट्रपति के घर में जाने से रोका था, अब वहीं बनने जा रहे हैं राष्ट्रपति !
Demo pic

आज तक आपने टॉयलेट के गुणों में सिर्फ आपको हलका करने तक इसको सीमित रखा होगा, लेकिन अब ये पुलिस की भी मदद करने लगे हैं। ख़बर अमेरिका से सामने आई है, जहां एंड्रयू डेविड जेनसेन के घर में चोरी होने का मामला सामने आया था। इसकी शिकायत पुलिस में की गई। पुलिस जब घर पहुंची तो चोर ने बड़े ही शातिराना अंदाज़ से इस चोरी को अंजाम दिया था। उसने इतनी सफाई से चोरी की थी, कि पुलिस के लिए चोर का पता लगाना मुश्किल हो रहा था। लेकिन कहते हैं, मुजरिम कितना भी शातिर क्यों ना हो, वो एक ना एक सबूत छोड़कर ही जाता है। एंड्र्यू के घर में चोरी करने वाले चोर ने भी एक ऐसी ही गलती की थी। पुलिस को उस चोर को सुराग एंड्रयू के घर के टॉयलेट में मिला।

जरुर पढ़ें:  इस मुस्लीम देश ने योगा को दी मंजूरी, स्पोर्ट्स एक्टिविटी में किया शामिल
Robber doesn’t flush toilet

दरअसल चोर चोरी करने घर पुहंचा, तो उसका प्रेशर क्रिएट हुआ और उसने एंड्रयू के घर का टॉयलेट यूज़ किया लेकिन जल्दबाज़ी में वो फ्लश यूज़ करना भूल गया। फिर क्या था उसकी पॉटी ही पुलिस के लिए बड़ा सुराग बन गई और उसकी ये लापरवाही उसके लिए जेल जाने की वजह भी बनी। मामला अक्टूबर 2016 का है, जब एंड्रयू के घर में चोरी हुई थी। पुलिस ने जब घर की छानबीन की तो उसे टॉयलेट में पॉटी मिली, पूछताछ में पता चला, कि ये घर के किसी सदस्य की नहीं है। पुलिस को यकीन हो गया, कि ये पॉटी चोर की ही है, पुलिस ने इसे जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा लैब में पॉटी का डीएनए टेस्ट किया गया। डीएनए से पता चल चुका था, कि चोर कौन है? पॉटी के डीएनए को नेशनल डेटाबेस में मौजूद डीएनए सैंपल से मैच किया गया, और इस तरह पुलिस ने चोरी करने वाले चोर का पता लगा लिया।

जरुर पढ़ें:  बॉस के साथ थे बीवी के अवैध संबंध, कोर्ट ने पति को ही सुना दी सज़ा
Demo pic

तो भाइयो अब आपके समझ आ गया होगा, कि पॉटी सिर्फ गंदगी फैलाने का ही काम नहीं करती है, पॉटी गंदगी को साफ भी करती है। इसलिए गंदगी को ना कहे और टॉयलेट के फ्लश को ज़रूर यूज़ करें। खासकर ट्रेनों में, लोग पॉटी तो कर लेते हैं लेकिन फ्लश का इस्तेमाल नहीं करते हैं। सावधान आपनी पॉटी को यूं ही खुले में कहीं भी ना छोड़ दें, क्योंकि आपकी ये पॉटी आपको जेल भी पहुंचा सकती है।