केरल के तिरुवनंतपुरम से मौजूदा सांसद शशि थरूर एक मंदिर में पूजा के दौरान गिर पड़े. सोमवार को थम्प नूर के गांधारी अम्मन कोविल में संतुलन बिगड़ने के बाद थरूर के सिर और पैर में चोट आई है. उन्हें तुरंत नजदीकी जनरल अस्पताल ले जाया गया. प्राथमिक जांच के बाद, उन्हें तिरुवनंतपुरम के सुपर-स्पेशियलिटी अस्पताल में ट्रांसफर कर दिया गया, इलाज कर रहे डॉक्टर के मुताबिक वे खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं लेकिन माथे में उन्हें छह टांके लगे हैं.

तुलाभरम ऐसी पूजा है जो केरल के कुछ गिने चुने मंदिरों में ही होती है. इस पूजा में अपने वजन के बराबर चढ़ावा चढ़ाया जाता है. देवी-देवता को जो कुछ अर्पित करना है, उसे पहले अपने वजन के बराबर तोला जाता है. मंदिरों में वजन के लिए बड़ी बड़ी मशीनें लगी होती हैं. इससे पहले जब वे कझक्कोट्टम क्षेत्र में अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत करने 11 अप्रैल को गए थे, तो वहां भी उन्होंने तुलाभरम किया था. यह इस मंदिर का एक बड़ा कार्यक्रम होता है और इसके बारे में उन्होंने ट्विटर पर भी जानकारी दी थी. 

जरुर पढ़ें:  'संकल्पित भारत, सशक्त भारत' वाले BJP के संकल्प पत्र की 10 बड़ी बाते, क्या है देश लिए खास

थरूर फिर इस बार तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस के लोकसभा उम्मीदवार हैं. इस सीट से दो बार कांग्रेस के सांसद चुने गए

थरूर का मुकाबला बीजेपी नेता और मिजोरम के पूर्व राज्यपाल कुम्मानेम राजशेखरन और सीपीआई विधायक और राज्य के पूर्व मंत्री सी. दिवाकरन से है.

तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से दो बार सांसद रहने वाले शशि थरूर इस बार हैट्रिक की तलाश में हैं. थरूर इस सीट से पहली बार 2009 में चुनाव लड़े थे. उस बार उन्हें एक लाख से तीन मत कम मिले थे, लेकिन 2014 में वह लगभग 15,000 मतों के अंतर से जीते. केरल में एक ही चरण में चुनाव है, जो 23 अप्रैल को सातवें चरण में होगा। 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजे सामने आएंगे.

जरुर पढ़ें:  बीजेपी के स्थापना दिवस पर शत्रुघ्न ने थामा कांग्रेस का हाथ..

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here