नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. ऐसा माना जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफा देने की वजह उनके और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच काफी समय से चले आ रहे मतभेद हैं. उन्होंने कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को मिलकर अपना इस्तीफा सौंपा है. बता दें बीते शनिवार को कैबिनेट मंत्री ब्रम्हा मोहिंद्रा ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगी सिद्धू से अपील की थी, कि वह ऊर्जा मंत्रालय का प्रभार संभाल लें, लेकिन CM कैप्टन अमरिंदर सिंह से नाराज सिद्धू ने पद संभालने के बजाय इस्तीफा देना सही समझा और राहुल गांधी से मिलकर अपना इस्तीफा उन्हें सौंप दिया.

जरुर पढ़ें:  नई पहल- ओला ऊबर के तर्ज पर मिलेगी सरकारी एम्बुलेंस.

सिद्धू ने ट्विटर पर अपने इस्तीफे को सार्वजनिक करते हुए जानकारी दी कि उन्होंने 10 जुलाई को ही अपना इस्तीफा दे दिया था, लेकिन इसका खुलासा आज किया है. बता दें मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और सिद्धू के बीच मनमुटाव चला आ रहा था, लोकसभा चुनाव में भी CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस को अच्छी संख्या में सीट न मिलने का ठीकरा नवजोत सिंह सिद्धू पर ही फोड़ दिया था, जिसके बाद दोनों के बीच तल्खी और भी ज्यादा बढ़ गई थी. सिद्धू ने एक अन्य ट्वीट  के जरिए साफ किया है कि उन्होंने अभी तक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपना इस्तीफा नहीं भेजा है, वह जल्द ही अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री को भेज सकते हैं.

जरुर पढ़ें:  मोदी 2.0 का नया प्लान, नियम तोड़ने पर 10 गुना ज्यादा कटेगा चालान..

आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू इस समय मंत्रालय बदले जाने से काफी नाराज हैं. बीते छह जून को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सिद्धू से शहरी निकाय के साथ पर्यटन एवं सांस्कृतिक मामले विभाग वापस ले लिए थे और उन्हें ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग का प्रभार सौंपा था. अमरिंदर ने सिद्धू से विभाग वापस लेते हुए इसके लिए उनके खराब प्रदर्शन को जिम्मेदार ठहराया था और इसके बाद से दोनों के बीच तनाव सार्वजनिक हो गया था.

 

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here