प्रयागराज में इन दिनों आस्था का महापर्व कुंभ चल रहा है . जहां साधु-संतों से लेकर देश-विदेश से आए करोड़ों श्रद्धालु पवित्र संगम में डुबकी लगा रहे हैं. पर कुंभ में आए कुछ अनोखे बाबा वहा आ रहें श्रद्धालुओं के बिच  चर्चा का विषय बने हुए हैं. आज हम कुछ ऐसे ही बाबाओं के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिन्हें देखकर लोग हैरान हैं.

ये हैं रुद्राक्ष वाले बाबा, जो पूरे कुंभ में चर्चा का विषय बने हुए हैं. हालांकि इन बाबा का असली नाम शिवयोगी मौनी महाराज है. इस बाबा की खासियत है कि ये 11 हजार रुद्राक्ष की माला धारण किए हुए हैं. आपको बता दे कि इन्होंने एक भी रुद्राक्ष खरीदा नहीं है. इनको सभी रुद्राक्ष उपहार स्वरूप मिले हैं. आपको बता हाल ही में नेपाल नरेश ने भी इन्हें एक 16 मुखी रुद्राक्ष भेंट में दिया है. मौनी महाराज ने संकल्प लिया है कि वो 51 हजार रुद्राक्ष धारण करेंगे.

जरुर पढ़ें:  स्मृति ईरानी कितनी जिद्दी हैं, ये खबर पढ़कर आपको समझ आ जाएगा

कुंभ में आए इस बाबा का नाम है राधे बाबा. ये जूना अखाड़े से जुड़े हुए हैं. इनकी सबसे बड़ी खूबी है कि इन्होंने पिछले 9 सालों से अपना एक हाथ ऊपर उठाकर रखा हुआ है. दरअसल, उन्होंने संकल्प लिया है कि जब तक अयोध्या में राम मंदिर नहीं बन जाएगा, तब तक वो अपना एक हाथ ऐसे ही ऊपर उठाकर रखेंगे.

ये हैं गोल्डन बाबा। ये हमेशा सोने के गहनों से लदे हुए रहते हैं. हर साल कांवड़ यात्रा के दौरान ये चर्चा में रहते हैं. पिछले साल करीब 20 किलो के सोने के गहने पहनकर इन्होंने कांवड़ यात्रा की थी. सिर्फ यहीं नहीं, गोल्डन बाबा अपने हाथ में 27 लाख की डायमंड की घड़ी भी पहने रहते हैं. हालांकि इस बार कुंभ में गोल्डन बाबा की चर्चा उनके सोने के गहनों से ज्यादा उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सिपाही को धमकी देने की वजह से हो रही है.

जरुर पढ़ें:  दुनिया की तीसरे सबसे भरोसेमंद सरकार हैं मोदी सरकार, वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम की रिपोर्ट

इस बाबा को लोग टोपी वाले बाबा के नाम से जानते हैं, क्योंकि ये अपने सिर पर टोपी और चांद धारण किए हुए हैं, जो लोगों को काफी आकर्षित कर रहा है. लोग इनके साथ खूब सेल्फी भी ले रहे हैं.

इस बाबा का नाम है खड़ेश्वरी बाबा . इस बाबा की खासियत ये है कि पिछले 4 सालों से एक पल के लिए भी न बैठे हैं और न लेटे हैं बल्कि एक पैड़ पर ही खड़े हैं. इसीलिए इनका नाम खड़ेश्वरी बाबा पड़ गया। खड़ेश्वरी बाबा ने संकल्प लिया है कि जब तक राम मंदिर नहीं बन जाएगा, तब तक ये एक पैर पर ही खड़े रहेंगे. इसके अलावा इन्होंने गाजियाबाद में शिव मंदिर के निर्माण को लेकर भी प्रण लिया है.

जरुर पढ़ें:  कौन हैं, वो निदा खान, जिसके खिलाफ खड़ा हो गया है पूरा मुस्लिम समाज!

ये हैं जटाधारी बाबा. कुंभ में इनकी चर्चा इसलिए हो रही है, क्योंकि ये टेक फ्रेंडली बाबा हैं. ये अपने साथ मोबाइल और लैपटॉप लेकर कुंभ नगरी पहुंचे हैं.

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here