कृष्ण लीला का वो नजारा तो आपको याद होगा जब वासुदेव भगवान कृष्ण को टोकरी में बैठाकर समुद्र के उस पार ले जाते हैं. कुछ ऐसा ही नजारा वडोदरा में भी देखने को मिला जहां एक पुलिस अफसर वासूदेव का रूप धर कर एक मासूम की जान बचाता नजर आया. दरअसल पिछले कुछ दिन में वडोदरा को भारी मूसलाधार बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात का सामना करना पड़ा है. सड़कों पर गाड़ियां फंसने से लोग पैदल ही लगभग तैरते हुए सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं. हालात इतने गंभीर हो गए हैं कि एनडीआरएफ की टीमों को राहत और बचावकार्य में जुटना पड़ा है.

जरुर पढ़ें:  अयोध्या मामले में आज की सुनवाई खत्म,जानिए कोर्ट में क्या हुआ

इसी बीच वडोदरा से एक ऐसी तस्वीर आई है जिसने देखने वालों को भगवान कृष्ण की याद दिला दी है. यह तस्वीर है सब-इंस्पेक्टर जीके चावड़ा की. बारिश और कंधे तक भरे पानी में चावड़ा एक महीने की बच्ची को टोकरी में डाल अपने सिर पर रखकर चल निकले, जैसे वासुदेव युमना के प्रवाह के बीच नवजात कृष्ण को लेकर निकले थे.

दरअसल, विश्वामित्री रेलवे स्टेशन के पास देवपुरा सेटलमेंट में करीब 70 परिवार बाढ़ में फंसे थे. इनमें से एक परिवार इस एक महीने की बच्ची का भी था. रावपुरा पुलिस स्टेशन की टीम इन लोगों की मदद को पहुंची. इस टीम को लीड कर रहे थे चावड़ा. जलस्तर को देखते हुए पुलिसकर्मियों ने दो पेड़ों के बीच रस्सी बांधी और लोगों को उसके सहारे बाहर निकाला. हालांकि, बच्ची के माता-पिता बहुत डरे हुए थे और वह यह जोखिम लेने से कतरा रहे थे.

जरुर पढ़ें:  दिल्ली में केजरीवाल को मिला अभिनेता प्रकाश राज का साथ, 'आप' के लिए करेंगे चुनाव प्रचार..

चावड़ा ने बताया, ‘दंपति सोच में पड़े थे. मैंने उन्हें बताया कि पानी का स्तर बढ़ता रहेगा और फौरन बाहर निकलना जरूरी है.’ इतना समझाकर उन्होंने बच्ची को एक कंबल में लपेटा और प्लास्टिक की टोकरी में रख दिया और टोकरी सिर पर उठाकर निकल पड़े. चावड़ा ने बताया कि किस्मत से वह बिना किसी परेशानी के बच्ची को लेकर निकल आए. देखने वालों ने चावड़ा की सूझ-बूझ और हिम्मत को तो सराहा ही, उन्हें देखकर सभी को वासुदेव का कृष्ण को यमुना पार कराना याद आ गया.

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here