U.S. President Donald Trump speaks as he holds a joint news conference with Spanish Prime Minister Mariano Rajoy in the Rose Garden at the White House in Washington, U.S., September 26, 2017. REUTERS/Joshua Roberts

कश्मीर मुद्दे पर झूठा बयान देने पर एक बार जमकर आलोचना झेल चुके डॉनल्ड ट्रंप ने फिर से उसी तरह का बयान दे डाला है. गुरुवार को डॉनल्ड ट्रंप ने कहा, ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऊपर है कि वह इस मसले पर अमेरिका का सहयोग चाहते हैं या नहीं. उन्होने कहा कि यह पूरी तरह से भारत और पाकिस्तान पर निर्भर करता है कि वह कश्मीर मामले का हल निकालने के लिए किसी की मदद लेना चाहते हैं या नहीं. उन्होंने ये भी कहा कि अगर दोनों दक्षिण एशियाई दशकों पुराने मामले को निपटाने के लिए उनकी मदद लेना चाहते हैं तो वह तैयार हैं.

जरुर पढ़ें:  रांची में खेले गए तीसरे वनडे के बाद के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान एरॉन फिंच ने दिया बड़ा बयान

ट्रंप ने दावा किया कि मोदी और उन्होंने पिछले महीने जी -20 शिखर सम्मेलन के मौके पर जापान के ओसाका में कश्मीर के मुद्दे पर चर्चा की, जहाँ भारतीय प्रधानमंत्री ने कश्मीर पर तीसरे पक्ष के मध्यस्थता की पेशकश की. इसीके साथ ट्रंप ने पाकिस्तान के पीएम इमरान खान के साथ पिछले हफ्ते हुई मुलाकात का हवाला देते हुए कहा कि इस मसले पर दोनों देशों के बीच बात हुई है. जहां पाकिस्तान ने ट्रंप की इस पेशकश का स्वागत किया है, वहीं भारत ने इसे सिरे से नकार दिया है.

बता दें कि गलत बयान देने के लिए सुर्खियों में रहने वाले ट्रंप ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए कहा. ट्रंप ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘अगर मैं मदद कर सकता हूं, तो मैं मध्यस्थ बनना पसंद करूंगा. अगर मैं मदद के लिए कुछ भी कर सकता हूं, तो मुझे बताएं.’ट्रंप ने कहा कि वह मदद के लिए तैयार हैं, अगर दोनों देश इसके लिए कहें. भारत पाकिस्तान के आतंकवादियों द्वारा जनवरी 2016 में पठानकोट में वायु सेना के ठिकाने पर हमले के बाद से पाकिस्तान से बातचीत बंद है.

जरुर पढ़ें:  बनारस में मौसेरी बहनों ने रचाई शादी, फोटो वायरल
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here