वक्त बदल रहा है। लोगों का पहनावा, खान-पान, रहन-सहन सब बदल रहा है। लेकिन एक चीज़ है, जो आज भी नहीं बदली है, वो है मुस्लिम धर्म के पुराने रिती-रिवाज, जिनका शिकार होती हैं सिर्फ औरतें। रिवाजों के नाम पर उनके साथ जो खेल खेला जाता है, उसे रीती-रिवाजों को बगल में रखकर देखा जाए, तो लड़कियों को बुरी तरह शोषित किया जाता है। तीन तलाक और हलाला प्रथा के नाम पर मुस्लिम महिलाओं का इतने बुरे दौर से गुजरना होता है, जिसकी कल्पना मात्र से आप सिहर जाएंगे। तलाक के बाद हलाला के नाम पर महिलाओं के साथ कैसा सलूक होता है, ये हाल ही में एक निजी चैनल के स्टिंग में सामने आया है, जहां घर के लोग अपनी पत्नी को दूसरे के साथ एक रात गुजराने के पैसे देते हैं और इस काम को हलाला के नाम पर मौलाना और मौलवी अंजाम देते हैं।

Demo pic

तीन तलाक के नाम पर पूरे देश में विवाद छिड़ा हुआ है, इस परंपरा के नाम पर मुस्लिम महिलाओं का कितना शोषण होता है, किसी से छिपा नहीं है। आपको ये जानकर हैरानी होगी, कि मुस्लिम समाज में तलाक के बाद महिलाएं चाहे भी तो पुरुष के साथ नहीं रह सकती और अगर पुरुष को अपने तलाक दिए पर पछतावा हो और वो फिर अपने पत्नी के साथ रहना चाहे तो पर्सनल लॉ इसकी इजाजत नहीं देता। फिर शरिया के मुताबिक दोनों के पास एक ही विकल्प बचता है, कि वो पत्नी का हलाला कराए और फिर दोनों साथ रहने लगे। लेकिन हलाला वो प्रक्रिया है, जिसमें न सिर्फ महिला की अस्निता बल्कि उसके सम्मान को भी तार-तार किया जाता है। इसी हलाला के नाम पर मुल्ला-मौलवी कैसे मजे काट रहे हैं, इसका खुलासा हुआ है, एक टीवी चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में।

जरुर पढ़ें:  तीन तलाक से पीड़ित मां का दर्द देख नाबालिग बेटी अपनाना चाहती है हिंदू धर्म
Demo pic

क्या है हलाला प्रथा?

दरअसल मुस्लिम लॉ के मुताबिक हलाला में महिला को किसी और मर्द से शादी कर एक रात के लिए उसके साथ हमबिस्तर होना पड़ता है, और फिर उस पुरुष से तलाक लेकर दोबारा वो शादी कर अपने पति के साथ रह सकती हैं। लेकिन ऐसे पुरुष मिलते कहां हैं, जो एक रात के लिए किसी महिला से शादी कर ले और फिर उसे तलाक दे दे। इसलिए हलाला प्रथा को निभाने के नाम पर मस्जिदों और मदरसों में बैठने वाले मुल्ला-मौलवियों ने इसे बढ़िया धंधा बना लिया है। जो हलाला के नाम पर एक दिन का दूल्हा बनने के लिए तैयार रहते हैं। इस बात की पड़ताल जब आज तक ने की तो कई मौलवी इस काम के लिए मोटी फीस लेकर करने को तैयार हो गए।

जरुर पढ़ें:  मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर के बारे में ये बातें पता है, महावारी के खिलाफ लड़ चुकी है जंग
Demo pic

स्टिंग ऑपरेशन में हुआ बडा खुलासा

इस बात का खुलासा टीवी टुडे ग्रुप के स्टिंग ऑपरेशन में हुआ, जहां उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के कई इमामों ने कैमरे पर कबूल किया, कि वो तलाकशुदा औरतों के साथ हमबिस्तर होते हैं और हलाला के नाम पर उनका सबका रेट भी पहले से तय है। इस काम के लिए वो मोटी रकम लेते हैं और रात गुजारने के बाद लड़की को सुबह रवाना कर देते हैं।

पहला मोलवी- मौलाना जुबेर कासमी  (Maulana zubair qasam)

Maulana zubair qasam

दूसरा मोलवी- मोहम्मद मुस्ताखीम

Mohammad Mustaquim

तीसरा मोलवी- मोहममद नदीम

Mohammad Nadeem

ये तीनों मोलवी प्रोफेशनली तरीके से मुस्लिम लड़कियों का दुबारा निकाह कराने के नाम पर पैसे लेकर एक रात के लिए उनसे शादी कर उनके साथ सेक्स किया करते हैं, इस बात को इन तीनों इमामों ने खुद कबूल किया है। यानी अनजाने में हुई गलती का खामियाजा लडकियां इस तरह चुकाती हैं। गलती भले ही लडके से हुई हो लेकिन हर्जाना लड़की को अपनी इज्जत की बलि चढ़ाकर चुकाना पड़ता है।

जरुर पढ़ें:  शर्मानाक-यहां लड़की को घर लेट पहुंचने पर देना पड़ता है अपनी वर्जिनिटी का टेस्ट
Demo pic

मदसरों और मज्जिदों के इन मौलानाओं ने खुलेआम कैमरे पर इस काम के अपने रेट बताए। कुछ ने तो ये तक कहा, कि वो मदरसे के लिए चंदा और अपनी फीस मिलाकर हलाला करते हैं। एक मौलवी से जब पूछा गया, कि आप शादीशुदा हैं, आपकी पत्नी को ऐतराज नहीं होगा, इसपर उन्होंने कहा, कि उनकी द बीवियां हैं इसलिए किसी पता ही नहीं होता, कि वो किस बीवी के पास है, इस नाम पर वो आराम से हलाला करवा देते हैं। इस तरह से हलाला के नाम पर मुस्लिम लड़कियों का शोषण हो रहा है। हालांकि तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाऊ पूरी हो चुकी है और इसमें कल 22 अगस्त को फैसला सुनाया जाना है, देखना होगा क्या कोर्ट से हलाला के नाम पर हो रहे महिलाओं के शोषण से मुक्ति मिल पाती है या नहीं?