बात अगर खाने की हो तो हमारे मुंह पर सबसे पहले ज़ोमैटो, स्विगी जैसे कई बड़े नाम आ जाते हैं. जिन्होंने बहुत ही कम समय में भारत में अपनी पहंचान बनाई है, क्योकिं खाने के मामले में ना ही लोग पैसा बरबाद करना चाहते हैं और ना ही टाइम. लेकिन अगर हम बात करें जोमैटो की तो दिल्ली के दो आईआईटी के स्टूडेंस ने जौमेटो के स्टार्टप की भारत में शुरुआत की थी. जोमैटो ने 2015 में ऑनलाइन ऑर्डर और फूड डिलीवरी की फेसिलिटिस लांच की. वैश्विक तौर पर अगर देखे तो जोमैटो 24 देशों में मौजूद है और हर महीने 5 करोड़ से ज्यादा कस्टोमर्स को डिलिवरी पहुंचाता है. जोमैटो कई ऐसे ऑफर निकालता रहता है जिससे लोग उससे जोड़े रहे.यूं तो जौमेटो कंपनी दिंसबर में खूब सुर्खियों में रही थी जब ज़ोमैटो के डिलीवरी बॉय का एक वीडियो वायरल हो गया था जिसमें एक डिलीवरी बॉय पेकेट खोलकर खाना खा रहा था और फिर उस जूठे खाने को ही फिर से पैक कर डिलीवरी करने पहुंच गया था. जिसके बाद जोमैटो सवालों के घेरे में आ गई थी. ज़ोमैटो ने इस वाक्य के लिए माफी भी मांगी और उस डिलीवरी बॉय को कंपनी से भी निकाल दिया गया था, लेकिन इस बीच जोमैटो ने अपने ट्वीटर अकांउट से एक फोटो शेयर की जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है ।

जिसमें ज़ोमैटो ने लिखा- आपके शहर का कौन सा रेस्टोरेंट इस तरह के कतार के लायक है? इससे बाद से ही सोशल मीडिया पर लोगों के सवालों की बुछार शुरु हो गई, हर किसी कि जबान पर बस एक ही सवाल था आखिर ये कौन सी जगह है, कहां इतने डिलीवरी बॉय खड़े हैं? किस शॉप पर इतनी भीड़ लगी हुई है? ऐसा क्या है कि इतने लोग डिलीवरी पहुंचाने के लिए खड़े हैं? इसका जवाब भी जोमैटो ने दिया लेकिन लोगों को थोड़ा सस्पेंस में रखने के बाद.
ज़ोमैटो ने एक और ट्वीट किया. इसमें लिखा- यह तस्वीर बावर्ची रेस्टोरेंट, हैदराबाद के बाहर ली गई थी. एक दिन में उन्हें जितने आर्डर मिलते हैं, यह जानकार आपके होश उड़ जाएंगे !

हैदराबाद का नाम सुनते ही हैदराबादी बिरयानी का नाम ध्यान में आ जाता है. क्या इस कतार के पीछे भी बिरयानी का राज छिपा है जी हां बिल्कुल सहीं सोच रहे है आप इस कतार के पीछे भी बिरयानी ही है. ज़ोमैटो के मुताबिक, इस रेस्टोरेंट से कंपनी एक दिन में करीब 2000 आर्डर रिसीव करती है और उसे पहुंचाती है.फूड डिलीवरी ऐप ज़ोमैटो ने सालाना रिपोर्ट जारी कर इस बात की जानकारी दी है, ज़ोमैटो ने इस सालाना रिपोर्ट में कुछ और भी इंटरेस्टिंग फैक्ट शेयर किए हैं. जिसमें जोमैटो ने बताया कि भागलपुर और गया में बाइक से ज्यादा साइकल से डिलीवरी की जाती है. मदुरै में सबसे ज्यादा चिकन बिरयानी सर्च की जाती है. विजयवाड़ा का बात की जाए तो वहां के लोग सबसे ज्यादा सुबह का नाश्ता आर्डर करते हैं और गुवाहाटी में तो डिलिवरी बाइक या साइकिल से ही नहीं बलकि नाव के जरिए भी की जाती है। आज जोमैटो का क्रैज पूरे भारत में फैलता जा रहा है ।

जरुर पढ़ें:  नीरव मोदी को बड़ा झटका, यूके हाई कोर्ट ने भी नहीं दी राहत, जामनत याचिका खारिज
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here