पश्चिम बंगाल मे लगातार माहौल बिगड़ता जा रहा है, जहां एक तरफ लोकसभा चुनाव अपने चरम पर है वहीं दूसरी तरफ बंगाल की राजनीति में भी उबाल उठना शुरु हो गया है. पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच काफी संघर्ष देखा जा रहा है. छठे चरण के मतदान के दौरान भी दोनों पार्टियों के बीच हिंसक माहौल देखने को मिला था.वहीं अमित शाह की बंगाल में हुई रैली को लेकर विवाद और बढ़ गया है. बंगाल में बढ़ते विवाद के बाजद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि कि बीजेपी-आरएसएस के गुंडे बंगाल में हंगामा कर रहे हैं. साथ ही तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने कहा कि कंगाल बांग्ला वाली टिप्पणी करने को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को कान पकड़ कर उट्ठक-बैठक लगवाना चाहिए. ममता ने आरोप लगाया कि भाजपा सीआरपीएफ की गाड़ियों में धन ले जा रही है, ताकि राज्य के लोगों में बांटा जा सके ।

जरुर पढ़ें:  बाटा ने ग्राहक से मांगे कैरी बैग के 3 रुपय, कोर्ट ने कंपनी पर ठोंका 9000 का जुर्माना..

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कोलकाता के बेहाला में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘बीजेपी-आरएसएस के गुंडे बंगाल में हंगामा कर रहे हैं. दो गुंडे मुसीबतें पैदा कर रहे हैं.’ कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली के बाद पनपे तनाव के बाद सीएम ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैंने पाया कि भाजपा के कुछ गुंडों ने विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ की है. हम इसे आसानी से जाने नहीं देंगे. हम मुंह तोड़ जवाब देंगे.’ ममता बनर्जी ने कहा, ‘मुझे इस पर शर्म आती है. बीजेपी कोलकाता में दंगों के लिए बाहरी लोगों को बुलाया है. मैंने अपने शिक्षा मंत्री से घटनास्थल पर पहुंचने और दिल्ली के गुंडे नेताओं की स्थिति की जांच करने के लिए कहा है’।

दूसरी तरफ ममता ने बीजेपी ने घेरते हुए अमित शाह के दिए बयान पर पटलवार किया.अमित शाह ने अपनी एक रैली में दावा किया था कि तृणमूल कांग्रेस के शासनकाल में ‘सोनार बांग्ला’ अब ‘कंगाल बांग्ला’ बन गया है. और भाजपा ही राज्य के खोए हुए वैभव को लौटा सकती है. ममता ने कहा कि उन्होंने बंगाल को कंगाल कहने की हिमाकत कैसे की? यह कहने पर उनसे कान पकड़ कर उट्ठक-बैठक कराना चाहिए’।

हालांकि पश्मिच बंगाल में माहौल जब से ही खराब हो गया था जब अमित शाह के रोड के लिए मंच तैयार किए जा रहे थे. ममता दीदी की पुलिस ने तब से ही बवाल मचाना शुरु कर दिया था. चुनाव में छिड़ी जुबानी जंग अब हिंसका में तब्दील हो चुकी है ।

जरुर पढ़ें:  गौतम गंभीर की बीजेपी में एंट्री ।
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here