कहते हैं, खूबसूरती देखने वाले को आंखों में होती है। लेकिन फैशन की दुनिया में ये कहावत काम नहीं करती है। वहां खूबसूरत बनाया जाता है। वहां जाने के लिए पहला पैमाना ही आपका खूबसूरत होना होता है। न सिर्फ खूबसूरत होना, बल्कि शारीरिक बनावट से लेकर आपका रंग यहां बेहद मायने रखता है। फैशन इंडस्ट्री में मॉडल्स की एंट्री से पहले उसे एक लम्बे पैरामीटर से होकर गुजरना पड़ता है। इन पैरामीटरस में मॉडल को नेचुरल ब्यूटी से हटकर अर्टिफिकल ब्यूटी टेक्निक्स का सहारा लेना पड़ता है। कम्पनी अपने प्रॉडक्ट के साथ एक परफेक्ट फिगर वाली ब्यूटी की चाहती है। लेकिन बदलते वक्त के साथ अब प्रॉडक्ट मार्केटिंग की ये स्ट्रैटेजी भी कुछ फीकी पड़ने लगी है, क्योंकि आज की जनरेशन स्टीरियोटाइप को ब्रेक करके आगे बढ़ना चाहती है।

ऑनलाइन फैशन स्टोर कंपनी बूहू का ये विज्ञापन ज़रा हटकर है, इसमें मॉडल तो है। खूबसूरत भी हैं, लेकिन वो परफेक्ट नहीं है। उसके बॉडी पर दाग दिख रहे हैं, लेकिन कमाल की बात ये कि इन दागों को कंपनी ने फोटोशॉप से छिपाया नहीं बल्कि खुलकर दिखाया।  कपंनी ने एक स्लिम सूट के एड में मॉडल्स को स्ट्रेच मार्क्स के साथ दिखाया है। ये एड ये दिखाता है, कि कमियां सबके अंदर होती हैं। उन कमियों को छिपाकर आर्टिफीसियल ब्यूटी दिखाने से अच्छा है, कि असली खूबसूरती से लोगों को रुबरु करवाया जाए।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है, जब किसी ब्रैंड ने एक अलग सोच के साथ लोगों के सामने अपने प्रॉडक्ट को पेश किया हो। 2017 में फेमस शूज ब्रैंड ‘adidas’ के फोटोशूट में मॉडल के लेग्स को बालों के साथ दिखाया गया है। फोटो में मॉडल के लेग्स वेक्स्ड नहीं हैं। अमूमन लड़कियां बिना वैक्सिंग के शॉर्ट ड्रेसेस पहनकर घर से बाहर तक नहीं निकलतीं, वहीं फेमस मॉडल अरविदा बिस्ट्रोम ने अपने अन्वेक्स्ड लेग्स के साथ एड किया। ‘Adidas’ को वैसे मेंस शूज का ब्रैंड समझा जाता है। इसी सोच को बदलने के लिए adidas ने एक स्ट्रांग लड़की की छवि दिखा कर ये बताया, कि ये ब्रांड लड़कों के साथ-साथ लड़कियों का भी है। हालांकि इस एड के बाद मॉडल अरविदा बिस्ट्रोम को लोगों ने काफी ट्रोल किया था। अरविदा बिस्ट्रोम ने इस फोटोशूट की एक फोटो को इंस्टाग्राम पर शेयर करते हुए बताया था, कि इस फोटोशूट के बाद से उन्हें बेहद अभद्र और अश्लील टिप्पणियां सुननी पड़ रही हैं। ऐसे बुरे कमेंट्स के साथ साथ मॉडल को रेप तक की धमकी भी मिली थी।

2015 में भी एक लिंगरी कैंपेन “For Women, By Women,” ने स्टीरियोटाइप को ब्रेक करते हुए मॉडल्स को बर्थ मार्क, टैटू और आर्मपिट में हेयर ग्रोथ के साथ दिखाया था। इस कैंपेन का ऐम लोगों को ये दिखाना था, कि ये ब्रैंड केवल किसी एक तरह की औरतों के लिए नहीं बल्कि रियल वुमेंस के लिए है। इस ब्रैंड को पहनने के लिए परफेक्ट बॉडी की जरुरत नहीं है। ये ब्रैंड केवल लोगों के कम्फर्ट और चॉइस को देखकर बनाया जाता है। ऐसे ही कई दूसरे कैंपेन ने भी वूमेंस की असली ब्यूटी को दिखाया है।

जरुर पढ़ें:  सिर्फ 2 मिनट में बनेगा फोटो वाला डेबिट कार्ड, SBI की नई सेवा

फेमस टी-शर्ट ब्रैंड ‘FCKH8’ के एक ब्रैंड प्रमोटिंग वीडियो में जातिवाद, लैंगिक समानता को दिखाया गया है। इस वीडियो को ‘फेमिनिस्ट वर्सेज फोटोशॉप’ का नाम दिया गया था। बता दें इस वीडियो में हर उम्र की महिला और साथ ही हर रंग की और हर साइज की महिलाओं को दिखाया गया है। इस ब्रैंड की ऑफिसियल साइट पर आपको शॉपिंग केटेगरी में जातिवाद, लैंगिक समानता और एलजीबीटी राइट्स  के ऑप्शन मिलेगें। इस ब्रैंड ने ऐसे ऑप्शन दे कर लोगों की सोच को और ऊंचा करने की कोशिश की है।

बॉलीवुड में भी आए दिन स्टार्स आर्टिफीसियल सर्जरी का सहारा लेते हैं। ये सहारा खुद को दुनिया के सामने परफेक्ट दिखाने के लिए होता है। कई स्टार्स तो इस दिखावटी ब्यूटी के कारण अपनी खूबसूरती भी खो बैठते हैं। ऐसा ही कुछ आयशा टाकिया के साथ हुआ था। आयशा को सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल किया गया था। दरअसल इस फोटो में आयशा बेहद अलग लग रही थीं और लोगों ने आयशा को चेहरे की सर्जरी कराने के लिए ट्रोल किया था। फोटो में आयशा के गाल और होंठ काफी अलग नजर आ रहे थे।

जरुर पढ़ें:  यूपी- भाजपा नेता का सांस फूली लेकिन फिर भी बोलते रहे .....कमल, कमल, कमल !
Aayesha and Anushka sharma after plastic surgery.

साथ ही एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा ने भी लिप सर्जरी करवाई थी। जिससे अनुष्का के लिप्स में काफी बदलाव आया था पर ये बदलाव फैंस को खासी पसंद नहीं आया था। वहीं हाल मे ही एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने प्लास्टिक सर्जरी की बात को लेकर एक बड़ा खुलासा किया। दीपिका ने बताया कि फिल्म इंडस्ट्री में टिकने के लिए उन्हें ब्रेस्ट सर्जरी की सलाह दी गई थी, ताकि फिल्मों के ऑफर आ सके। लेकिन एक्ट्रेस दीपिका ने अपने मन की सुनते हुए कोई सर्जरी नहीं करवाई और आज दीपिका बॉलीवुड की एक जानी मानी एक्ट्रेस में से एक हैं।

किसी ने खूब कहा है, कि ”जैसे आप को भगवान ने बनाया है। हमेशा वैसे ही रहें, क्योंकि असली का मोल भाव तो हमेशा सजावट से ज्यादा ही होता है”।
आजकल की टेक्नो और एडवांस लाइफ में सब आगे बढ़ना चाहते हैं, लेकिन आगे बढ़ने के लिए हमें अपनी बुराइयों और अच्छाईयों दोनों को एक्सेप्ट करना सीख लेना चाहिए। ऐसा ही ग्लैमरस दुनिया में भी है। हमें अपने खुद की शेप और कलर को अपना लेना चाहिए न की आर्टिफीसियल टेक्निक्स का यूज़ करके अपनी असल पहचान को खो देना चाहिए।

जरुर पढ़ें:  दिल्ली की जहरीली हवा से, ये चीजें रखेंगी आपको हैल्थी-ज़रुर पढें
Loading...

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here