माॅं बाप हमारी जिन्दगी का एक जरूरी हिस्सा होतो हैं, चाहे कोई भी मौका हो, खुशी हो या गम, वो हर पल हमारे साथ रहते हैं। कितनी भी बड़ी मुसीबत क्यों न हो कभी भी हमारा साथ नहीं छोड़ते, हर मुसीबत से लड़ने का हौसला देते हैं। पर दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं, जो अपने प्यार के झूठे वादों के नाम अपने माता पिता पर हाथ उठाने तक, यहां तक कि उनका कत्ल करने से भी नहीं झिझकते।

Demo Pic

ऐसा ही एक मामला फिर से हमारी आंखों के सामने आया है, यहां पर एक बेटी ने अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ मिलकर अपने ही पिता को मार डाला। पिता का कसूर इतना ही था कि उसने तड़के बेटी के कमरे से प्रेमी को पकड़ लिया था। पिता के टोकने पर युवती इस कदर खफा हुई कि उसने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पिता के पिटाई कर दी। बुरी तरह जख्मी पिता को दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां पर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। पूरा मामला नोएडा सेक्टर-27 अट्टा का है।

जरुर पढ़ें:  आप भी चाहती हैं न्यू हेयर लुक, तो ये रही कुछ यूनिक हेयर स्टाइल

वहीं, बेटी की करतूत से विधवा हुई महिला गायत्री साहू ने अपनी बेटी और उसके प्रेमी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। वहीं, शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने बेटी को गैरइरादतन हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है, जबकि प्रेमी फरार बताया जा रहा है।

Demo Pic

नगर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह के मुताबिक, विश्वनाथ साहू अट्टा गांव में अपने परिवार सहित किराये पर रहते थे। घटनाक्रम के मुताबिक, 8 जनवरी (रविवार) की सुबह चार बजे जब वह सोकर उठे तो उन्होंने घर में बेटी पूजा के साथ उसके प्रेमी धर्मेन्द्र को देखा।

बेटी की इस हरकत पर विश्वनाथ साहू बुरी तरह नाराज हो गए। इस पर उन्होंने बेटी का डांटा। इससे नाराज बेटी  ने प्रेमी के साथ मिलकर पिता विश्वनाथ जमकर पिटाई की।जानकारी पर पत्नी ने परिजनों की मदद से गंभीर रूप से घायल विश्वनाथ पहले नोएडा के एक अस्पताल में फिर हालत बिगड़ने पर दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया। वहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

जरुर पढ़ें:  सर्दियों में रामबाण औषधी की तरह है नारियल तेल, ये रहे चौंकाने वाले फायदे
Demo Pic

पुलिस का मानना है कि हत्या का यह मामला अपने आपमें अनोखा है। बेटियों को मां से ज्यादा पिता प्रिय होते हैं, लेकिन बेटी द्वारा पिता की हत्या का अपनी तरह का अलग मामला है। पुलिस का कहना है कि हर एंगल से जांच की जाएगी। ऐसे मामले कहीं ना कहीं हमारे दिल में ये सवाल पैदा करते हैं कि जब बड़े होने पर बच्चे इतने खतरनाक फैसले खुद ले सकते हैं तो माता पिता ऐसी औलाद को पालते ही क्यों है?

Loading...