भारतीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने इंडिया में जैसे ही सभी साइट्स से झूठी ख़बरें फ़ैलाने वालों की छंटाई करने के निर्देश दिए, वैसे ही Facebook और You Tube ने अपने दिशा निर्देश पूरी तरह बदल दिए। गूगल ने भी अब इसी क्षेत्र में एक बड़ा कदम उठाया है।

Demo Pic

गूगल पर झूठी ख़बरें प्रसारित करने वाली साइट्स को बैन करने के लिए गूगल ने यूजर्स के लिए एक नया नियम जारी किया है, जिसमें यूजर को अगर किसी खबर में सत्यता नहीं लगती, तो यूजर उसके लिए SPAM की शिकायत कर सकता है। अगर कोई भी खबर प्रकाशक गूगल की नीतियों का उल्लंघन करता है, तो गूगल में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करायी जा सकती है ।

जरुर पढ़ें:  यहां खुला भारत का पहला रोबो रेस्टोरेंट जहां आदमी नहीं रोबोट करते हैं सर्व
Demo Pic

गूगल के अनुसार, इसके खिलाफ कोई मैन्युअल कार्रवाई तो नही की जायेगी लेकिन शिकायकर्ता की छवि को ध्यान में रखकर ही गूगल उसके शिकायत के प्रति कार्रवाई करेगा, कुछ मामलों में तो न्यूज़ प्रकाशित करने वाले प्रकाशक की साइट्स को गूगल न्यूज़ से भी हटाया जा सकता है।

Demo Pic

इसके अलावा गूगल अपने सभी यूजर्स को अपने विचार और पुष्टि देने के लिए, सभी एंड्राइड यूजर्स को गूगल असिस्टेंट की सुविधा भी उपलब्ध कराएगा। गूगल असिस्टेंट को पुराने एंड्रॉयड 5.0 लॉलीपॉप ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) पर उपलब्ध कराने की घोषणा की है।

Demo Pic

गूगल असिस्टेंट के प्रोग्राम मेनेजर मुख्सिम मुख ने कहा है, कि गूगल असिस्टेंट को एंड्राइड के सबसे पुराने वर्जन LOLIPOP में भी गूगल असिस्टेंट की सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। ये उन यूजर्स के लिए जारी किया जाएगा, जिन्होंने भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और ब्रिटेन में अपने फोन को अंग्रेजी भाषा में रखा है। इसके अलावा अमेरिका, मैक्सिको और स्पेन में स्पैनिश भाषा के यूजर्स के लिए भी ये उपलब्ध होगी। देखने वाली बात ये होगी कि सर्च इंजन पर राज करने वाला गूगल किस तरह से अपनी इस पहल में कामयाब हो पाता है? और क्या गूगल की इस पहल से फेक खबरों पर रोक लग पाएगी।