बिटकॉइन के बारे में तो हम सब अच्छी तरह से जानते हैं, बिटकॉइन दुनिया की सबसे मंहगी क्रिप्टोकरेंसी है,भारतीय बाजार में एक बिटकॉइन की कीमत लगभग 10 लाख रुपए है, बिटक़ॉइन इस समय दुनिया के निवेशकों की सबसे पहली पसंद है। बिटकॉइन क्रिप्टोकरेंसी में सबसे ऊपर है, वजह है इसकी बाजार में बहुताधिक मांग और दूसरा इससे मिलने वाला फायदा।

Mukesh Ambani and Aakash Ambani

क्रिप्टोकरेंसी की बाजार में भारी मांग को देखते हुए रिलायंस भी अपनी क्रिप्टोकरेंसी भारत में लांच करने वाला है, जिसे जियोकॉइन(Jio Coin) का नाम दिया गया है, जियोक़ॉइन की कमान मुकेश अम्बानी के बेटे आकाश अम्बानी को सौंपी गई है। रिलायंस इससे पहले नेटवर्क के क्षेत्र में Jio से अपना नाम कर चुका है। अब क्रिप्टोकरेंसी के क्षेत्र में उसने अपना नया दाव खेला है।

जरुर पढ़ें:  सर्दियों में गोरा चेहरा चाहिए? ये नुस्खे आपको बना सकते हैं खूबसूरत
Demo Pic

खबरों के अनुसार ये माना जा रहा है कि जियोकॉइन(Jio Coin) के लिए 50 मेम्बर्स की एक टीम बनाई जाएगी, जिसमें सारी टीम की मेक्सिमम एज 25 साल के लगभग होगी। क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ते चलन को देखते हुए मुकेश अंबानी के बड़े बेटे आकाश अंबानी के नेतृत्व में बनने वाली टीम क्रिप्टोकरेंसी के लिए जरूरी ब्लॉकचेन का निर्माण करेगी और उसके तकनीकी पहलुओं पर निगाह रखेगी। इस सप्लाई चेन में शामिल होने वाले ‘जियोकॉइन’ के माध्यम से खरीद-फरोख्त कर सकेंगे।

Demo Pic

लेकिन आपको बता दें भारतीय रिजर्व बैंक ने क्रिप्टोकरेंसी के बारे में भारतीय निवेशकों को पहले ही सावधान कर चुका है,खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी यह कहा था कि क्रिप्टोकरेंसी के उपयोग को भारत में मान्यता नहीं दी गई है।

जरुर पढ़ें:  यहां खुला भारत का पहला रोबो रेस्टोरेंट जहां आदमी नहीं रोबोट करते हैं सर्व
Demo Pic

वित्त मंत्री ने यह भी बताया था कि फिलहाल करीब 785 क्रिप्टोकरेंसी चल रही हैं। आरबीआई ने भी पिछले दिनों चेतावनी जारी करते हुए कहा था कि बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता नहीं दी गई है और इसमें निवेश करना जोखिम भरा हो सकता है। साल 2017 के अंतिम दिनों में बिटकॉइन की कीमत ने करीब 13 लाख रुपए का आंकड़ा छू लिया था।