महात्मा गांधी अकेेले ऐसे शख्स थे, जिन्होंने भारत को आजादी दिलाने के साथ-साथ एकता, सत्य और अहिंसा के कई पाठ पढ़ाए। इसीलिए आज भी जब हिंसा, दंगों और  झूठ की बात आती है, वहां महात्मा गांधी के सत्य वचन, हिंसा का त्याग जैसी बातों का जिक्र होता है। क्योंकि हमने गांधी जी की उन विचारों और उसी छवि को देखा है, हमें सिर्फ उनकी पॉजिटीव आदतों और बातों के बारे में ही पता है। लेकिन आज हम महात्मा गांधी की जंयती पर आपको उनसे जुड़े कुछ ऐसे राज़ बताने जा रहे हैं, जो शायद ही आपने पहले सुने हो। जी हां, एक समय ऐसा था जब गांधी जी स्मोकिंग के आदी थे और वेश्यालयों में भी जाया करते थे। और जब उन्हें इस बात का अपराधबोध हुआ, तो वे आत्महत्या करने के लिए निकल पड़े थे।

M.K Gandhi Statue

महात्मा गांधी की पुस्तक ‘Gandhi:Experiment with Truth’ में उन्होंने खुद अपने शब्दों में इन बातों का खुलासा किया है। इस किताब में उन्होंने लिखा है, कि उनके जीवन का एक वक्त ऐसा था, जब वो खुद बुरी आदतों में फंसे हुए थे। वो स्मोकिंग के इतने आदी थे, कि उनसे सभी लोग बेहद परेशान रहते थे। ये आदतें गांधी जी को उनके बचपन में थी। गांधी जी बीड़ी के इतने आदी थे, कि वो इसे खरीदने के लिए कॉपर चुरा कर उसे बेचा करते थे। साथ ही कभी-कभी वो नौकर की जेब से भी पैसे चुरा लिया करते थे और इन्हीं पैसों से वे खरीदकर चोरी छिपे बीड़ी पिया करते थे। लेकिन जब बीड़ी खऱीदकर लाते तो बची हुई बीड़ियों को रखने का संकट उनके सामने होता इसलिए उन्होंने एक पौधे के डंठलों को बीड़ी की तरह इस्तेमाल करना शुरू कर दिया था, हालांकि एक दिन उनकी ये चोरी पकड़ी गई और उनके चाचा ने उन्हें बीड़ी पीते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया था।

जरुर पढ़ें:  एक नवाब, जो अपने अजीब शौक की वजह से दुनिया में सुर्खियों में रहा
Gandhi Autobiography: Experiment with Truth

गांधी जी के लिए ये समय बेहद ही शर्मसार करने वाला था,कि उन्हें बीड़ी पीते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया गया था। उसके बाद गांधी जी इतने तनाव में आ गए थे, कि उन्होंने आत्महत्या करने का मन बना लिया था। लेकिन उनके सामने सवाल था, कि वे जहर कहां से लाए और उन्हें ये देगा कौन ? इसलिए उन्होंने कभी सुन रखा था, कि धतूरे का बीज काफी जहरीला होता है, जिसे खाने से इंसान की मौत हो जाती है। गांधी जी ने उसे जंगल के इकट्ठा किया था और एकांत में केदार मंदिर में जाकर उन्होंने इसे खाने का निर्णय किया था लेकिन वो इसके लिए हिम्मत नहीं जुटा पाए, दो तीन बीज खाने के बाद ही उन्होंने आत्महत्या का विचार त्याग दिया था। गांधी जी ने अपनी किताब में लिखा है-

‘We Went to Kedarji Mandir, put ghee in the temple lamp, had the Darshan and then looked for a lonely corner. but our courage failed us’

इतना ही नहीं, गांधी जी ने एक बार चोरी भी की थी। उन्होंने 25 रुपए उधार चुकाने के लिए अपने भाई का सोने का जेवर चुराया था। गांधी जी अपनी किताब में इस बात का भी जिक्र करते हैं, कि वे एक बार वेश्यालय भी गए थे, जहां जाकर उन्होंने किसी महिला के साथ सेक्स तो नहीं किया लेकिन एक बार जाने के बाद वो वहां करीब चार बार गए थे।

जरुर पढ़ें:  वो नेता फिलिस्तीन से दोस्ती चाहता था, लेकिन सनकी यहुदियों ने उसे मार डाला
M.K Gandhi Childhood Pic

मांस खाकर नहीं ले पाए थे, चैन की नींद

गांधी जी के बारें में सब यही जानते हैं, कि वे शुद्ध शाकाहारी थे, लेकिन 15 साल की उम्र में गांधी जी ने मांस भी खाया था और एक साल में करीब पांच-छह बार उन्होंने मांस खाने की कोशिश की थी, लेकिन जब पहली बार गांधी में ने मांस खाया था, तो उन्हें रात भर नींद नहीं आई थी और वे इस तरह झटपटा रहे थे, मानो उनके सामने किसी जिंदा बकरी को काटा जा रहा हो।

M.K Gandhi

ईष्या से भरे पति थे, गांधी 

गांधी जी इस बात का भी जिक्र करते हैं, कि वो एक ईष्या से भरे पति थे। तभी उनकी पहली दो पत्नियों की मौत हो गई थी। आपको बता दें, कि महात्मा गांधी जी की कस्तूरबा गांधी से पहली शादी नहीं थी, उनकी दो और पत्नियां भी थीं, जो शायद उनकी जलन के कारण ही मर गई। लेकिन गांधी बतातें हैं, कि कस्तूरबां गांधी के साथ भी उनका ऐसा ही रिश्ता रहा। वे कई दिनों तक आपस में बात भी नहीं किया करते थे। गांधी बताते हैं, कि कस्तूरबां से दूर रह कर वो खुद से जलन महसूस किया करते थे।

M.K Gandhi and His Wife Kasturba gandhi

एक डांसर और इग्लिंश जेन्टलमेन बनना चाहते थे, गांधी

महात्मा गांधी के बारें में यही सुनते आए हैं, कि वो बेहद ही साधारण पहनावा पसंद करते थे और चरखे पर खुद से काते हुए कपड़े ही पहनते थे। लेकिन गांधी का एक वक्त ऐसा भी था, जब वो बेहद ही खर्चीले और डांस के शौकिन थे। जी हां, अपनी ऑटोबायोग्राफी में गांधी जी लिखते हैं, कि जब वे इंग्लैंड में पढ़ाई करने गए थे, तो पहले उन्होंने नए कपड़े खरीदे और एक मंहगी टोपी भी खरीदी थी, इसके बाद बाद उन्होंने रात में पहनने के लिए एक नाइट सूट खरीदा था, जो उस वक्त 10 पॉउंड में बॉन्ड स्ट्रीट से खरीदा था। इतना ही नहीं, गांधी जी ने अपने भाई से सोने क़ी घडी खरीदने की भी डिमांड की थी।

जरुर पढ़ें:  कश्मीर के महाराजा हरि सिंह डोगरा को इतिहास ने विलेन बनाया, लेकिन सच ये है?
Statue of Mahatma Gandhi in London, Parliament Square.

गांधी जी के खर्चे और शौक यही खत्म नहीं हुए थे, गांधी जी ने इंग्लैंड में वेस्टर्न डांस, फ्रेंच डांस सीखने की भी क्लास लगाई थी। लेकिन उन्होंने जब डांस किया तो उन्हें लगा कि वे एक अच्छे डांसर नहीं बन पाएंगे। इतना ही नहीं, गांधी की इच्छा थी, कि वायलिन बजाना सीखे, इसके लिए गांधी जी ने 3 पॉउंड में एक वायलिन खरीदा था और उसे कैसे बजाते हैं उसकी क्लास भी लेनी शुरु की थी। लेकिन वे इन सब चीजों से परेशान हो गए थे, क्योंकि वे उतना अच्छा नहीं कर पा रहे थे, जितना वो चाहते थे और आखिर में उन्होंने वेस्टर्न कल्चर का ये मजा करना छोड़ दिया था।

Loading...